होम /न्यूज /हरियाणा /

हरियाणा: जेलों में भावुक अंदाज में मना रक्षाबंधन, बहनों ने भाइयों से लिया वचन, भविष्य में नहीं करेंगे गलत काम

हरियाणा: जेलों में भावुक अंदाज में मना रक्षाबंधन, बहनों ने भाइयों से लिया वचन, भविष्य में नहीं करेंगे गलत काम

हरियाणा की जेलों में रक्षा बंधन अनूठे व भावुक अंदाज में मनाया गया.

हरियाणा की जेलों में रक्षा बंधन अनूठे व भावुक अंदाज में मनाया गया.

Raksha Bandhan 2022: कहते हैं कि इंसान ग़लत नहीं होता, हालात उसे अच्छा या बुरा बनाते हैं. इसी उद्देश्य से जेल प्रशासन लिखता है कि नफ़रत अपराधी से नहीं, अपराध से करो. इसी कहावत को सार्थक करने के लिए जेलों में रक्षाबंधन का पर्व मनाया गया. जिसकी हर भाई बहन ने सराहना की

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

बहनों ने भाइयों से लिया अनोखा वचन!
रक्षाबंधन पर, रक्षा का नहीं, सुधरने का लिया वचन!

भिवानी. पूरे देश में रक्षाबंधन जहां बड़ी धूम धाम से मनाया गया, वहीं हरियाणा की जेलों में रक्षा बंधन अनूठे व भावुक अंदाज में मनाया गया. यहां पर बहनों ने अपने भाइयों से राखी बांध कर अपनी रक्षा की बजाय उनसे भविष्य में कोई ग़लत काम ना करके सुधरने व अच्छे इंसान बनने का वचन लिया गया.

बता दें कि पूरी दुनिया में भाई बहन का प्यार सबसे पवित्र होता है, जिसे हर साल रक्षाबंधन के तौर पर मनाया जाता है.  सदियों से इस रक्षाबंधन के पर्व पर बहन भाई की कलाई पर राखी बांध कर अपनी रक्षा वचन लेती है. पर कुछ भाई जाने या अनजाने में अपराध कर जेल चले जाते हैं. ऐसे भाइयों की बहनों को भी अपने भाइयों को राखी बांधने व रक्षाबंधन मनाने के लिए हरियाणा जेल के डीजी मोहम्मद अकील ने विशेष व्यवस्था करवाई. जिसके जलते जेलों में रक्षाबंधन बड़े ही भावुक अंदाज में मनाया गया.

जेल में अपने भाइयों को देख बहनें भावुक दिखी, जिन्होंने अपने भाईयों को तिलक कर राखी बांधी और फिर मिठाई खिलाई. भिवानी जेल में अपने भाइयों को राखी बांधने आई बहन ख़ुशी, रिंपी व मुन्नी ने बताया कि जेल प्रशासन ने रक्षाबंधन पर अच्छी व्यवस्था की है. उन्होंने बताया कि उन्होंने अपने भाइयों से अपनी रक्षा की बजाय उनसे भविष्य में कोई ग़लत काम ना करने व सुधर कर अच्छे इंसान बनने का वचन लिया है.

वहीं जेल में बंद भाई आज़ाद व पवन ने भी कहा कि वो अपनी बहनों को दिये वचन पर खरे उतरेंगे. इस दौरान भिवानी जेल अधीक्षक सतपाल कासनियां ने कहा कि जेल डीजी मोहम्मद अकील के निर्देश पर प्रशासन द्वारा जेल में बहनों के लिए राखी, मिठाई व सिंदूर का प्रबंधन किया गया. कहते हैं कि इंसान ग़लत नहीं होता, हालात उसे अच्छा या बुरा बनाते हैं. इसी उद्देश्य से जेल प्रशासन लिखता है कि नफ़रत अपराधी से नहीं, अपराध से करो. इसी कहावत को सार्थक करने के लिए जेलों में रक्षाबंधन का पर्व मनाया गया. जिसकी हर भाई बहन ने सराहना की

Tags: Haryana news, Raksha bandhan

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर