लाइव टीवी
Elec-widget

दिग्गजों की हार के पिछे बड़ा षड़यंत्र नहीं, जन-आशीर्वाद यात्रा: रामबिलास शर्मा

Jagbir Ghangas | News18 Haryana
Updated: November 20, 2019, 4:19 PM IST
दिग्गजों की हार के पिछे बड़ा षड़यंत्र नहीं, जन-आशीर्वाद यात्रा: रामबिलास शर्मा
हार के पीछ राम बिलास शर्मा ने बताई ये वजह

भाजपा ने विधानसभा चुनावों से पहले 75 पार का नारा दिया था. भ्रष्टाचार खत्म करने, नौकरियों में पारदर्शिता बरतने तथा सबका साथ-सबका विकास का नारे देने के बाद भी भाजपा को बुहमत से कम 40 सीटें ही मिली.

  • Share this:
भिवानी. अपनी और पार्टी की हार से आहत पूर्व शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा (Rambilas Sharma) ने इशारों ही इशारों में सीएम और उनकी जन-आशिर्वाद यात्रा को जिम्मेवार ठहराया है. भिवानी (Bhiwani) पहुंचे रामबिलास शर्मा ने हार की हार की समीक्षा कर केन्द्र को रिपोर्ट की जाएगी. उन्होंने कहा कि हार के कई कारण रहे और आंकलन में भी गलती रही. शर्मा ने कहा कि कोई षङयंत्र तो नहीं था, लेकिन अब हार का बाप बनने को कोई तैयार नहीं.

बता दें कि भाजपा ने विधानसभा चुनावों से पहले 75 पार का नारा दिया था. भ्रष्टाचार खत्म करने, नौकरियों में पारदर्शिता बरतने तथा सबका साथ-सबका विकास का नारे देने के बाद भी भाजपा को बुहमत से कम 40 सीटें ही मिली. साथ ही पार्टी के दिग्गज मंत्रियों की हार किसी को हजम नहीं हो रही. इसको लेकर अब पार्टी विधानसभा स्तर पर बैठक कर समीक्षा कर रही है. इसके तहत पूर्व शिक्षा मंत्री भिवानी व दादरी जिला की बैठक ले रहे हैं.

अलग-अलग हलकों के कार्यक्रताओं की बैठक लेने के बाद रामबिलास शर्मा मीडिया से रूबरू हुए। इस दौरान वो हार से आहत दिखे और कहा कि हार के कई कारण हैं जिनकी समीक्षा हो रही है. उन्होंने बताया कि हार के जो कारण कार्यकर्ता बता रहे हैं उसकी रिपोर्ट बनाकर केन्द्र को सौंपी जाएगी.

हार का बाप बनने को कोई तैय्यार नहीं

दिग्गजों की हार पर शर्मा ने कहा कि हार ऐसी चिज है जिसका बाप बनने को कोई तैयार नहीं. शर्मा ने दबी जुबांन में सीएम का नाम लिए बिना जन-आशिर्वाद यात्रा को हार का कारण बताया और कहा कि जो नेता इस रथ में चढा वो चुनाव तक नीचे उतरा ही नहीं.

खुद की हार पर कही ये बात

खुद की हार पर रामबिलास ने कहा कि महेन्द्रगढ में मेरी हार मात्र 7-8 हजार मतों से हुई है और साथ ही जितने वाले कांग्रेस प्रत्याशी के भी पहले की तुलना में वोट कम हुए हैं. उन्होने कहा कि इस बार महेन्द्रगढ में सभी प्रत्याशियों ने वोटों का खूब लेनदेन किया है. साथ ही उन्होनें खुद के प्रदेश अध्यक्ष या राज्यपाल बनाने जाने की चर्चाओं पर ये फैसला संगठन द्वारा लिया जाने वाला फैसला बताया. उन्होने कहा कि संगठन का सच्चा सिपाही हूं और संगठन जो फैसला लेगा वो मंजूर होगा.
Loading...

यह भी पढ़ें- पानीपत: बिजली के खंभे से टकराने के बाद धूं-धूं कर जली कार, ड्राइवर ने कूदकर बचाई जान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भिवानी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 20, 2019, 4:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...