अपना शहर चुनें

States

SBI लूट और गार्ड हत्या मामले में पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, पैसे सहित आरोपी गिरफ्तार

पुलिस गिरफ्त में हत्यारा
पुलिस गिरफ्त में हत्यारा

एसपी ने बताया कि घटना स्थल के आसपास घटना के कुछ समय पहले और बाद की सीसीटीवी चेक करने और सीआईए पुलिस की कड़ी मेहनत से आरोपी की पहचान की गई.

  • Share this:
भिवानी पुलिस ने 22 नवंबर को राजकीय कॉलेज में बैंक गार्ड पर हमला कर मौत के घाट उतारने व लूट करने के बहुचर्चित मामले में बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. पुलिस ने हत्या के मुख्य आरोपी को लूट के पैसे सहित गिरफ्तार कर लिया है. खास बात ये है कि लूट और हत्या का आरोपी शिक्षा बोर्ड में अनुबंध आधार पर नौकरी करता था.

बता दें कि 22 नवंबर को एक युवक राजकीय कॉलेज की एसबीआई शाखा में तेजधार हथियार लेकर घुस गया और एक के बाद एक गार्ड पर 8-10 वार कर गंभीर रुप से घायल कर दिया. पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो गई जिसमें साफ दिखाई देता है कि ये हमलावर बैंक के गार्ड 52 वर्षीय ईश्वर पर बड़ी ही बेरहमी से वार करता है. ये बेरहम हमलावर मात्र दो-अढाई मिनट में पूरी घटना को अंजाम देकर और बैंक में मिले करीब एक लाख रुपये लेकर फरार हो जाता है. घायल गार्ड की उसी दिन देर शाम इलाज के दौरान मौत हो गई. पुलिस के लिए इस पहली को सुलझाना और हत्यारे को गिरफ्तार करना एक बड़ी चुनौती बन गई.

भिवानी में दिनदहाड़े SBI बैंक की शाखा में लूट, गार्ड पर तेजधार हथियार से हमला



मामले की सूचना पाकर एसपी गंगाराम पूनिया तुरंत अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे. एसपी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच के लिए सीआईए सहित पुलिस की 10 टीमें गठित की. एसटीएफ ने भी इस मामले की जांच शुरु की. दो दिन बाद बेरहम हत्यारे का कोई सुराग ना लगने पर एसपी गंगाराम पूनिया ने हत्यारे पर एक लाख रुपये इनाम रखने के लिए विभाग के पास प्रस्ताव भी भेजा था. लेकिन ईनाम घोषित होने से पहले ही बेरहम हत्यारे को गिरफ्तार कर लिया गया.
PHOTOS: पंचतत्व में विलीन हुए शहीद विजय कुमार, बेटे ने नम आंखों से दी मुखाग्नि

बेरहम हत्यारे की गिरफ्तारी के तुरंत बाद एसपी गंगाराम पूनिया ने प्रेसवार्ता कर पूरे मामले का पटाक्षेप किया. एसपी ने बताया कि घटना स्थल के आसपास घटना के कुछ समय पहले और बाद की सीसीटीवी चेक करने और सीआईए पुलिस की कड़ी मेहनत से आरोपी की पहचान की गई.

उन्होंने बताया कि घटना वाले दिन अंदेशा था कि हमलावर करीब एक लाख रुपये लेकर फरार हुआ है लेकिन बाद में जांच के बाद पता लगा कि हमलावर करीब 98 हजार रुपये लेकर भागा था. उन्होंने बताया कि बेरहम हत्यारा पास के ही गांव बापोड़ा का रहने वाला टिंकू है, जो अनुबंध आधार पर शिक्षा बोर्ड में चतुर्थ कर्मचारी लगा हुआ था.

एसपी गंगाराम पूनिया ने बताया कि फिलहाल गार्ड के हत्यारे टिंकू को अदालत में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा जिसके बाद गार्ड पर हमले के सही कारणों का खुलासा हो पाएगा. उन्होंने बताया कि आरोपी टिंकू से बैंक से लूटे गए 98 हजार रुपये में से 56 हजार रुपये बरामद किए गए हैं. एसपी ने बताया कि पुछताछ के दौरान ही खुलासा हो पाएगा कि टिंकू का बैकग्राऊंड क्या है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज