लाइव टीवी

चार बेटियों की विधवा मां को मिला न्याय, आरोपी को देने होंगे 80 लाख, भुगतनी होगी 2 साल की जेल

Jagbir Ghangas | News18 Haryana
Updated: November 19, 2019, 2:53 PM IST
चार बेटियों की विधवा मां को मिला न्याय, आरोपी को देने होंगे 80 लाख, भुगतनी होगी 2 साल की जेल
जेएमआईसी कोर्ट ने सुनाया ऐतिहासिक फैसला (सांकेतिक तस्वीर )

भिवानी जेएमआईसी कोर्ट (Bhiwani JMIC Court) ने चार बेटियों की विधवा मां को न्याय दिलाते हुए ऐतिहासिक फैसला (Historical verdict) सुनाया है. कोर्ट (court) ने आरोपी को विधवा महिला को 80 लाख रुपये देने तथा दो साल की सजा सुनाई है.

  • Share this:
भिवानी. हरियाणा के भिवानी जेएमआईसी कोर्ट (Bhiwani JMIC Court) ने चार बेटियों की विधवा मां को न्याय दिलाते हुए ऐतिहासिक फैसला (Historical verdict) सुनाया है. कोर्ट (court) ने आरोपी को विधवा महिला को 80 लाख रुपये देने तथा दो साल की सजा सुनाई है. बता दें कि पीड़िता के पति ने आरोपी को 50 लाख रुपये दिए थे, जिनके बदले आरोपी ने उसे चेक दिया था, जो बाउंस हो गए थे, इससे परेशान होकर पीड़िता के पति ने आत्महत्या (suicide) कर ली थी.

ममता के पति अनिल शर्मा ने दिए थे पैसे बैंक ब्याज पर पैसे

पूरा मामला साल 2015 का है, जब गांव धनाना निवासी अनिल शर्मा, जो बॉम्बे ट्रांसपोर्ट (Bombay Transport) का काम करता था. अनिल शर्मा ने 2 मार्च 2015 को बॉम्बे में अपना फ्लैट बेचा था, इसके बाद गांव बास निवासी अनिल कौशिक, जो फिलहाल भिवानी सेक्टर-23 में रहता है ने अनिल शर्मा से एक अप्रैल 2015 को 50 लाख रुपये तीन महीने के लिए बैंक ब्याज पर लिए. जब पैसे लौटाने का समय आया तो अनिल कौशिक ने अनिल शर्मा को नकद की बजाय 25-25 लाख रुपये के दो चेक 18 नवंबर 2015 दिए. अनिल शर्मा ने जब ये चेक बैंक में लगाए तो दोनों चेक बाउंस हो गए.

जीवन की सारी कमाई डूबने के डर से पीड़ित ने की थी सुसाइड

इसके बाद अनिल शर्मा ने 10 मार्च 2016 को जेएमआईसी कोर्ट के माध्यम से केस किया. इस मामले में अनिल शर्मा के वकील रमेश सांगवान ने बताया कि आरोपी अनिल कौशिक ने अनिल शर्मा के वाट्सएप पर मैसेज भेजा कि उसने अपने दोनों चेक गुम होने की शिकायत थाने में दी है. अब तुम्हें कोर्ट से भी कुछ नहीं मिलेगा. अपने जीवन की सारी कमाई डूबने के डर से परेशान होकर अनिल शर्मा ने 22 अप्रैल 2016 को फांसी का फंदा लगा कर आत्महत्या कर ली, इसके बाद अनिल शर्मा की विधवा पत्नी ममता जो चार बेटियों की मां है, उसने न्याय के लिए सभी सबूत जुटाए और कोर्ट में केस लड़ा.

आरोपी पीड़ित विधवा को देगा 80 लाख रुपये, दो साल की सजा- कोर्ट

एडवोकेट रमेश सांगवान ने बताया कि जेएमआईसी कोर्ट ने सभी सबूतों के आधार पर अनिल कौशिक को दोषी पाते हुए पीड़ित ममता को 80 लाख रुपये राहत के तौर पर देने तथा आरोपी के दो साल की सजा सुनाई है. बता दें कि जब ममता के पति ने आत्महत्या की तो आरोपी अनिल कौशिक के हौंसले बढ़ गए, उसे लगा कि अब उसे 50 लाख नहीं देने पड़ेंगे, लेकिन चार बेटियों की विधवा मां ने आरोपी के खिलाफ केस लड़ा और उसे इंसाफ मिल गया.
Loading...

यह भी पढ़ें- कुरुक्षेत्र में हरियाणा रोडवेज की बस डंपर से टकराई, चालक समेत 12 सवारियां घायल

यह भी पढ़ें- OLA कैब बुकिंग करके लाए बदमाशों ने चालक को पिस्तौल दिखाकर लूटी कार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भिवानी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 19, 2019, 2:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...