हरियाणाः ऑक्सीजन न मिलने से हिसार में 5, पानीपत में 3 की मौत, हॉकी प्लेयर रानी रामपाल समेत 11775 नए पॉजिटिव

महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल कोरोना पॉजिटिव

महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल कोरोना पॉजिटिव

Haryana COVID-19 Update: ऑक्सीजन न मिलने से कोरोना मरीजों की मौत की सीएम मनोहर लाल ने मजिस्ट्रीयल जांच के आदेश दिए हैं. प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 83 लोगों की कोरोना से मौत हो गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2021, 7:32 AM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा में कोरोना का कहर लगातार जारी है. हरियाणा की हॉकी खिलाड़ी रानी रामपाल (Hockey player Rani Rampal) कोरोना की शिकार हो गई हैं. प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 11,775 नए मरीज मिले हैं. वहीं 83 मरीजों की कोरोना से मौत (Death) हो गई है. वहीं 6211 मरीज ठीक हुए हैं. प्रदेश में पॉजिटिविटी रेट 33% पर पहुंच गया. हालात भयावह हो गए हैं. रविवार को ऑक्सीजन न मिलने से हिसार में 5 और पानीपत में 3 लोगों की जान चली गई. हिसार के सोनी बर्न कोविड हेल्थ सेंटर में दिल्ली व पंजाब के 1-1 और हिसार के 3 मरीजों ने दम तोड़ा.

मृतकों के परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की. उन्होंने कहा कि इमरजेंसी के लिए बैकअप में अतिरिक्त सिलेंडर नहीं थे. महंगे दाम पर खरीदकर रेमडेसिविर इंजेक्शन लगवाया था. वहीं अस्पताल संचालक डॉ. रजत सोनी का कहना है कि प्लांट से ऑक्सीजन नहीं मिली. जब तक नजदीकी अस्पताल से सिलेंडर की व्यवस्था की, तब तक मरीजों ने दम तोड़ दिया.

ऑक्सीजन की कमी से हो चुकी हैं कई मौतें

वहीं जिला प्रशासन के डेडिकेटिड कोविड हेल्थ सेंटर्स के सोशल मीडिया ग्रुप पर ऑक्सीजन खत्म होने की बात कही थी, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई. इंजेक्शन को लेकर भी आरोप निराधार हैं. सीएम मनोहर लाल ने मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए हैं. इससे पहले रेवाड़ी-गुरुग्राम में 4-4, पलवल में 7 और पानीपत में 5 लोगों की मौत ऑक्सीजन न मिलने से हो चुकी है.
सीएम ने दिया मैजिस्ट्रियल जांच का आदेश

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने हिसार के सोनी बर्न अस्पताल में हुई मौतों पर कहा कि इस मसले पर मेडिकल बोर्ड जांच कर रहा है. उन्होंने कहा कि कुछ लोगों के मुताबिक ये मौतें ऑक्सीजन की कम आपूर्ति की वजह से हुई हैं. कुछ लोगों ने यह भी आरोप लगाया कि ये मौतें लापरवाही का बरते जाने की वजह से हुईं. मुख्यमंत्री ने कहा कि मैंने इस बारे में मजिस्ट्रीयल जांच के लिए डिप्टी कमिश्नर से कहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज