Home /News /haryana /

according to source there was rdx in bag which found near burail jail in chandigarh nodnc

चंडीगढ़ के बुड़ैल जेल के बाहर मिले विस्फोटक मामले में बड़ा खुलासा, जानें क्या?

जेल के बाहर मिला विस्फोटक RDX है.

जेल के बाहर मिला विस्फोटक RDX है.

Burail Jail Chandigarh: जेल के बाहर मिला विस्फोटक RDX है. NSG के टॉप लेवल के सूत्रों के मुताबिक करीब डेढ़ किलो RDX बरामद किया गया है. इसके अलावा कीले और कुछ इलेक्ट्रॉनिक मैटेरियल भी है.

हाइलाइट्स

जेल के बाहर मिला विस्फोटक RDX है.
इस घटना के पीछे ISI और खालिस्तानी आतंकियो की साजिश हो सकती है.

चंडीगढ़. बुड़ैल जेल के पास शनिवार को विस्फोटक मिला था. इस मामले में एक बड़ी खबर सामने आई है. जेल के बाहर मिला विस्फोटक RDX है. NSG के टॉप लेवल के सूत्रों के मुताबिक करीब डेढ़ किलो RDX बरामद किया गया है. इसके अलावा कीले और कुछ इलेक्ट्रॉनिक मैटेरियल भी है. बता दें कि विस्फोटक मिलने की खबर के बाद न्यूज़ 18 इंडिया ने बताया था की इस घटना के पीछे ISI और खालिस्तानी आतंकियो की साजिश हो सकती है. फिलहाल मामले को देखते हुए जांच एजेंसियां हर एंगल से जांच में जुटी हुई है.

बता दें कि शनिवार को जेल के पास से संदिग्ध बैग और टिफिन मिला. जांच एजेंसियों को घटना के पीछे ISI और खालिस्तानी आउटफिट्स के होने का शक है. घटना की जानकारी के बाद से मानेसर NSG की टीम और इंडियन आर्मी विस्फोटक की जांच में जुट गई थी. दूसरी तरफ जांच में सामने आया कि जेल के पास लगे सीसीटवी कैमरा खराब पड़े हैं. ऐसे में यह सवाल उठ रहा था कि आखिर इस ओर ध्यान क्यों नहीं दिया गया.

सुरक्षा एजेंसियों ने किया था अलर्ट
बता दें कि सुरक्षा एजेंसियों ने हाल ही में एक अलर्ट भी जारी किया था. जिसमे बकायदा बताया गया था की जेल से कुख्यात आतंकियो को छुड़ाने की साजिश रची जा सकती है. साथ ही इसमें जेल को लेकर भी जानकारी दी गई थी. इस जेल में पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह के हत्यारे परमजीत सिंह भ्यौरा, बब्बर खालसा इंटरनेशनल और जगतार सिंह बंद हैं. ऐसे में यह उन्हें छुड़ाने की साज़िश हो सकती है. अलर्ट में भी इस बात का जिक्र किया गया था.

जेल में होटल जैसा ट्रीटमेंट
गौरतलब है कि जिन कुख्यात आतंकियों को लेकर अलर्ट जारी किया गया था, उन पर जेल प्रशासन से मिलीभगत के आरोप पहले भी लग चुके है. स्थानीय अदालत में इसको लेकर संज्ञान भी लिया जा चुका है. आरोपों के मुताबिक जेल अधिकारी और कर्मचारी आतंकी जगतार सिंह हवारा, परमजीत सिंह भ्यौरा और जेल में लग्जरी सुविधाएं उपलब्ध कराते थे. उन्हें जेल में ‘होटल जैसा ट्रीटमेंट दिया करते जाता था. आरोपों के मुताबिक जेल में सुरंग खोदने की आवाज का पता न चले सके इसके लिए टीवी, रेडियो की आवाज तेज कर दी जाती थी. जिम के सामान और लोहे की रॉड का इस्तेमाल भी जेल ब्रेक करने के लिए किया गया गया था.

Tags: Chandigarh news, Haryana news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर