Assembly Banner 2021

अकाली दल के कार्यकर्ताओं ने किसान आंदोलन में शामिल होने जा रही गाड़ियों में भरवाया मुफ्त डीजल

किसानों का आंदोलन

किसानों का आंदोलन

भीषण सर्दी में भी किसान 13 दिनों से सड़कों पर जमे हुए हैं. इस बीच कई किसानों (Farmers) की अलग-अलग कारणों से जान भी चली गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 10, 2020, 11:05 AM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. कृषि बिल के खिलाफ सड़कों पर जमे किसानों का भारी जनसमर्थन मिल रहा है. दिल्ली में किसान आंदोलन (Farmers Agitation) में शामिल होने जा रहे वाहनों में पेट्रोल और डीजल फ्री में भरवाने के लिए भी कई संगठन मदद के लिए आगे आ रहे हैं. ऐसा ही नजारा पंजाब के पेट्रोल पंप पर देखने को मिला, जहां प्रदर्शन में शामिल होने जा रहे लोगों की गाड़ियों में फ्री में तेल डलवाया गया. शिरोमणि अकाली दल (SAD) के कार्यकर्ताओं ने बुधवार को दिल्ली-अमृतसर नैशनल हाइवे पर एक पेट्रोल पंप पर दिल्ली की तरफ जा रहे किसान प्रदर्शनकारियों की गाड़ियों में मुफ्त डीजल और पेट्रोल भरवाया.

कार्यकर्ता गुरशरण सिंह ने कहा कि यह कदम हमने पंजाब के अधिक से अधिक लोगों को आंदोलन से जुड़ने और मजबूत करने के इरादे से शुरू किया है. स्थानीय युवाओं और अपने NRI दोस्तों की मदद से हम यह काम कर रहे हैं. किसानों का कहना है कि जब तक केंद्र सरकार कानूनों को वापस नहीं लेती और वापस लेने की बात लिखित में नहीं देती, तब तक वे प्रदर्शन खत्म नहीं करेंगे.

13 दिनो से सड़कों पर जमे किसान



बता दें कि भीषण सर्दी में भी किसान 13 दिनों से सड़कों पर जमे हुए हैं. इस बीच कई किसानों की अलग-अलग कारणों से जान भी चली गई. किसान नेताओं और केंद्र सरकार के मंत्री के बीच पांच दौर की बातचीत हो चुकी है, लेकिन अब तक कोई बात नहीं बन पाई है. मंगलवार को भी किसान नेताओं और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बीच देर रात तक चली बैठक बेनतीजा रही.
सरकार कानून वापस लेने को तैयार नहीं

मीटिंग से बाहर आकर अखिल भारतीय किसान सभा के महासचिव हनन मुला ने कहा कि सरकार कृषि कानून वापस लेने को तैयार नहीं है. ऐसे में बुधवार को विज्ञान भवन में सरकार और किसानों के बीच कोई बैठक नहीं होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज