Home /News /haryana /

अनिल विज ने हरियाणा के लिए जारी किया संशोधित होम आइसोलेशन प्रोटोकॉल

अनिल विज ने हरियाणा के लिए जारी किया संशोधित होम आइसोलेशन प्रोटोकॉल

स्कूलों को लेकर हरियाणा सरकार ने बड़ा फैसला किया है.

स्कूलों को लेकर हरियाणा सरकार ने बड़ा फैसला किया है.

अनिल विज ने बताया कि मरीजों के लिए निजी अस्पतालों में आइसोलेशन बेड, आईसीयू व वेंटिलेटर की सुविधा के लिए भी रेट तय किए गए हैं ताकि कोई भी अस्पताल मरीजों से अधिक बिल की वसूली न कर सकें.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
चंडीगढ़. हरियाणा (Haryana) के स्वास्थ्य एवं गृहमंत्री अनिल विज (Anil Vij) ने जींद (Jind) के उचाना में स्थापित नई कोविड-19 आणविक (मॉलिक्यूलर) लैब का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से उद्घाटन किया. इस मौके पर उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चैटाला (Deputy Chief Minister Dushyant Chautala) भी उपस्थित थे. उप-मुख्यमंत्री एवं स्वास्थ्य मंत्री ने ‘संशोधित होम आइसोलेशन प्रोटोकॉल’ (revised home isolation protocol) जारी किया. उन्होंने कहा कि राज्य में अब 14 सरकारी अस्पतालों और मेडिकल कॉलेजों में ऐसी कोविड-19 लैब स्थापित की जा चुकी हैं, जिनमें 13350 टेस्ट प्रतिदिन किए जाते हैं. इस प्रकार, प्रदेश के 6 निजी अस्पतालों में 5620 टेस्ट की सुविधा दी जा रही है. इसके साथ ही विभाग ने राज्य के सभी जिलों में इस प्रकार की लैब स्थापित करने का लक्ष्य रखा है, जिसके तहत शीघ्र ही पानीपत, यमुनानगर और भिवानी में भी ऐसी लैब स्थापित की जाएगी.

निजी अस्पतालों में कोविड टेस्ट के लिए रेट तय

इस दौरान कोरोना मरीजों की देखभाल के लिए ‘स्टैप-वन’ नामक एनजीओ के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर भी किए गए. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि राज्य में इस समय 46367 क्वारंटाइन बेड हैं, जबकि 3486 कंटेनमैंट जोन, 10145 आइसोलशन बेड, 2231 आईसीयू बेड, 1070 वेंटीलेटर, 3.78 लाख पीपीई किट और 7.25 लाख एन-95 मास्क की सुविधा है. निजी लैब में आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए 2400 रुपये, रेपिड एंटिजेन के लिए 650 रुपये और इलिसा हेतु 250 रुपये तय किए हैं. उन्होंने बताया कि मरीजों के लिए निजी अस्पतालों में आइसोलेशन बेड, आईसीयू व वेंटिलेटर की सुविधा के लिए भी रेट तय किए गए हैं ताकि कोई भी अस्पताल मरीजों से अधिक बिल की वसूली न कर सकें. इसके साथ ही फरीदाबाद, गुरुग्राम, पंचकूला, रोहतक और करनाल में प्लाज्मा बैंक चल रहे हैं. चैटाला ने स्वास्थ्य विभाग की प्रशंसा करते हुए कहा कि कोरोना काल में स्वास्थ्य विभाग ने जो महत्वपूर्ण कार्य किया है, वह देश के लिए अनुकरणीय है. उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग को इस महामारी से वैक्सिन आने तक लड़ना होगा ताकि प्रदेश के किसी भी व्यक्ति को कोई हानि न हो सके. इसके साथ ही, उन्होंने दादरी में भी इस प्रकार की लैब स्थापित करने के लिए कहा.



अन्य जिलों में भी दी जाएंगी सुविधाएं

अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग ने प्रत्येक जिले में ऐसी लैब स्थापित करने का लक्ष्य रखा है, जिसको शीघ्र ही पूरा किया जाएगा. उन्होंने कहा कि राज्य के सभी जिला अस्पतालों में अन्य टेस्ट करवाने की सुविधा भी मरीजों को दी जाएगी, जिसके लिए उचित कदम उठाए जा रहे हैं. एनजीओ स्टैप-वन के सुचिन बजाज ने कहा कि उनके पास 7 हजार से अधिक डॉक्टर्स, 2 हजार मेडिकल छात्र, नर्स और अन्य स्वयंसेवक हैं, जोकि 16 राज्यों में अपनी सेवाएं प्रदान कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि वे मरीजों की सुविधा के लिए टेलीफोन, वॉयस और वेब टेली-स्क्रीन व अन्य माध्यमों से सम्पर्क करते हैं और उनकी सहायता के लिए आवश्यक कदम उठाते हैं. इसके अलावा, वे गुरुग्राम के प्लाज्मा बैंक में भी मदद कर रहे हैं और पंचकूला, करनाल और फरीदाबाद में सहयोग करने का विचार है.

Tags: Anil Vij, Deputy Chief Minister, Dushyant chautala, Haryana news, Jind news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर