कंगना के पक्ष में उतरे अनिल विज, महाराष्ट्र सरकार को आड़े हाथ लेकर कही ये बात...
Chandigarh-City News in Hindi

कंगना के पक्ष में उतरे अनिल विज, महाराष्ट्र सरकार को आड़े हाथ लेकर कही ये बात...
कंगना रनौत के पक्ष में उतरे हरियाणा के मंत्री अनिल विज.

अनिल विज ने कहा कि अगर महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई के सारे अवैध निर्माण गिरा दिए तो बहुत अच्छी बात है. लेकिन चुन-चुन कर कार्रवाई करना, चुन-चुन कर प्रताड़ित करना और चुन-चुन कर धमकियां देना ठीक बात नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 9, 2020, 8:23 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. कंगना रनौत (Kangana Ranaut) मामले में हरियाणा (Haryana) के गृह मंत्री अनिल विज (Anil Vij) ने कहा कि देश सबका है. कोई भी कहीं पर भी अगर इस देश को टुकड़े-टुकड़े करके देखने की कोशिश करता है, वह देश का दुश्मन है. इस देश के हर प्रांत पर हर व्यक्ति का उतना ही अधिकार है, जितना उस प्रदेश में रहने वाले लोगों का है. किसी को देश के भीतर कहीं आने-जाने से रोका नहीं जा सकता, किसी पर रुकावट नहीं पैदा की जा सकती.

चुन-चुन कर धमकाना सही नहीं

उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) जो कह रही है कि हमने कंगना रनौत का अवैध निर्माण (Illegal construction) गिराया, बहुत अच्छी बात है. अगर उन्होंने मुंबई के सारे अवैध निर्माण गिरा दिए और एक साथ गिरा दिया तो बहुत अच्छी बात है. लेकिन चुन-चुन कर कार्रवाई करना, चुन-चुन कर प्रताड़ित करना और चुन-चुन कर धमकियां देना ठीक बात नहीं है. यह किसी भी सरकार को शोभा नहीं देता.



गाइडलाइन का पालन जरूरी होता
बरोदा उपचुनाव को लेकर हो रही जनसभाओं पर गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि जो भी प्रदेश में अगर जनसंख्या इकट्ठा करेगा, मास्क नहीं पहनेगा, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करेगा तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी. अनिल विज ने यह भी कहा बिना परमिशन के किसी को भी असेंबली करने की इजाजत न दी जाएय इसके साथ ही विज ने यह भी कहा कि अगर किसी को इजाजत दी जाती है तो उसे यह भी पूछा जाए कि इस जनसभा का लीडर कौन है और किसके कहने पर इतने लोग इकट्ठे किए गए हैं.



सुरजेवाला के मुंह में क्लच-एक्सिलेटर है, ब्रेक नहीं

सुरजेवाला पर तंज कसते हुए अनिल विज ने कहा कि सुरजेवाला बोलने से पहले सोचते नहीं हैं. उन्हें सोच कर बोलना चाहिए. सुरजेवाला के मुंह में केवल क्लच, एक्सीलेटर है, ब्रेक नहीं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज