अपना शहर चुनें

States

नवजात बच्ची को कैरीबैग में डालकर बेचने के लिए अस्पताल पहुंचा बाप

बच्ची का अस्पताल में चल रहा इलाज
बच्ची का अस्पताल में चल रहा इलाज

पुलिस पूछताछ में पता चला की आरोपी जसपाल सिंह मोहाली के गांव बल्लोमाजरा के गुरुद्वारा साहब के पास किराए के मकान में रहता है जिसके पहले दो बेटे है जबकि घर में तीसरी बेटी होने पर वह उसे एक पॉलिथीन में पैक कर बेचने अस्पताल पहुंच गया.

  • Share this:
मोहाली सिविल अस्पताल फेज-6 की एमरजेंसी में रात 10 बजे उस समय सभी सन्न रहे गए जब एक व्यक्ति ने ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर से कहा कि उसने अपना नवजात बच्चा बेचना है. यह सुनकर डॉक्टर बोले बच्चा कहां है. उस शख्स ने अपने हाथ में पकड़ा पीले रंग का कैरीबैग डॉक्टर के हाथ में थमा दिया.

डॉक्टर कैरीबैग में बच्चा देख एकदम उसे एमरजेंसी रूम में ले गए और फिर चेक किया. नवजात की हालत खराब थी, वह वोमेटिंग कर रहा था. अस्पताल के डॉक्टर्स ने तुरंत इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी, जिसके बाद पुलिस ने नवजात बच्ची के आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया है.

पुलिस पूछताछ में पता चला कि आरोपी जसपाल सिंह मोहाली के गांव बल्लोमाजरा के गुरुद्वारा साहब के पास किराए के मकान में रहता है. आरोपी पिता के दो बेटे है और जब घर में तीसरी संतान बेटी हुई तो वह उसे एक पॉलिथीन में रखकर बेचने अस्पताल पहुंच गया.



आरोपी जसपाल मोहाली के वीआर मॉल के रिलांयस फ्रेश में लोडिंग का काम करता है. इसलिए उसके पास रिलांयस का बड़ा कैरी बैग था. नवजात बच्चे को उक्त पीले रंग के कैरीबैग में डाल कर बेचने के लिए गया था, लेकिन अस्पताल प्रबंधन की सूझबूझ के चलते उसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.
जानकारी के अनुसार आरोपी पिता इससे पहले बच्ची को मोहाली के एक बड़े प्राइवेट अस्पताल में भी बेचने के लिए गया था, लेकिन उन्होंने उसे वहां से निकाल दिया. फिलहाल पुलिस ने आरोपी पर केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है.

वहीं, मोहाली सिविल अस्पताल के डॉक्टर्स के अनुसार आरोपी पिता जब बच्ची को लेकर अस्पताल पहुंचा तो उसकी हालत काफी नाजुक थी. जिसके बाद उसे जरुरी उपचार देने के साथ-साथ ऑक्सीजन लगाई गई. फ़िलहाल बच्ची की हालत स्थिर बताई जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज