Home /News /haryana /

गुरुग्राम: दहेज में क्रेटा कार नहीं लाने पर बैंक एक्जीक्यूटिव की हत्या! पिता बोले- मेरी बेटी को मार डाला

गुरुग्राम: दहेज में क्रेटा कार नहीं लाने पर बैंक एक्जीक्यूटिव की हत्या! पिता बोले- मेरी बेटी को मार डाला

दहेज के लिए हत्या

दहेज के लिए हत्या

Murder for Dowry: मृतका के परिवार ने उसके पति और ससुरालवालों के खिलाफ दहेज हत्या का मामला दर्ज कराया है.

गुरुग्राम. शादी के बाद 'क्रेटा' गाड़ी नहीं दे पाया इसलिए मेरी बेटी को दहेज लोभियों ने जहर देकर मार दिया. एक ऐसी ही शिकायत बिलासपुर थाना क्षेत्र में विवाहिता की संदिग्ध मौत के बाद दर्ज करवाई गई है. दरअसल बीती 7 मार्च को गुरुग्राम पुलिस को 26 वर्षीय विवाहिता तनुजा की संदिग्ध मौत (Suspicious death) की सूचना मिली थी. मौके पर पहुंची पुलिस (Police) ने तफ़्तीश में पाया कि मृतका की मौत जहरीला प्रदार्थ खाने से हुई थी.

फिलहाल पुलिस ने मृतका के पिता की शिकायत पर मामला दर्ज कर तफ़्तीश शुरू कर दी है. एसीपी क्राइम की मानें तो पुलिस ने इस मामले में 304-B दहेज हत्या, 498-A, यानी दहेज की मांग करना और 34 आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर आरोपियों की गिरफ्तरी के प्रयास तेज कर दिए हैं.

दरअसल बीते साल 20 मई 2020 को मृतका तनुजा और खरखड़ी गांव के संदीप की लव कम अरेंज्ड मैरिज हुई थी. जिसके बाद से संदीप और उसके परिजनों ने तानों और तरह तरह की शारीरिक और मानसिक प्रताड़ना तनुजा पर जुल्मों सितम कर शुरू कर दिया. हालांकि कई बार इसको लेकर दोनों परिवारों के बीच बातचीत हुई लेकिन बावजूद इसके संदीप और उसके परिजनों की दहेज की डिमांड बढ़ती चली ग. जिससे परेशान हो तनुजा की संदिग्ध मौत हो गई.

बैंक में एक्जीक्यूटिव पद पर तैनात थी मृतका

मृतका तनुजा गुरुग्राम के हयातपुर इलाके के एचडीएफसी बैंक में एक्जीक्यूटिव पद पर तैनात थी. फिलहाल पुलिस मामले की तफ़्तीश में जुटी है. बता दें कि बीते दिनों अहमदाबाद की साबरमती नदी में डूबने वाली आयशा का मामला हो या फिर निजी बैंक में काम करने वाली तनुजा की बात हो हर साल दर्जनों ऐसी दहेज हत्या की शर्मनाक घटनाएं विभिन्न थानों पर दर्ज तो होती है. लेकिन बावजूद इसके दहेज हत्याओं के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे है.

Tags: Crime News, Daughter murder, Haryana police

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर