Home /News /haryana /

सतलुज-यमुना लिंक नहर बनने तक पंजाब में कांग्रेस के लिए प्रचार कैसे करूंगा: हुड्डा

सतलुज-यमुना लिंक नहर बनने तक पंजाब में कांग्रेस के लिए प्रचार कैसे करूंगा: हुड्डा

Photo- News18.com

Photo- News18.com

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा ने कहा कि वह पंजाब में कांग्रेस के लिए तब तक चुनाव प्रचार नहीं करेंगे जब तक सतलुज-यमुना लिंक नहर का निर्माण नहीं हो जाए और हरियाणा के हिस्से का पानी नहीं छोड़ा जाए. उन्होंने कहा, ‘‘हरियाणा के हित मेरे लिए सर्वोपरि हैं.’’

अधिक पढ़ें ...
    हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा ने कहा कि वह पंजाब में कांग्रेस के लिए तब तक चुनाव प्रचार नहीं करेंगे जब तक सतलुज-यमुना लिंक नहर का निर्माण नहीं हो जाए और हरियाणा के हिस्से का पानी नहीं छोड़ा जाए. उन्होंने कहा, ‘‘हरियाणा के हित मेरे लिए सर्वोपरि हैं .’’

    हुड्डा ने यहां कांग्रेस की एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘जब तक सतलुज-यमुना लिंक नहर का निर्माण न हो जाए और हरियाणा के हिस्से का पानी न छोड़ दिया जाए, तब तक मैं पंजाब में कांग्रेस के लिए कैसे चुनाव प्रचार कर सकता हूं ?’’

    नोटबंदी के कारण लोगों को आ रही दिक्कतों के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए कांग्रेस ने यह रैली आयोजित की थी. उन्होंने कहा कि पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एसवाईएल समझौता तोड़ा था.

    हुड्डा ने कहा, ‘‘जब तक पंजाब समझौते के सम्मान और एसवाईएल के निर्माण का आश्वासन नहीं देता, तब तक मैं कांग्रेस के पक्ष में प्रचार कैसे कर सकता हूं ?’’ नोटबंदी को ‘‘आजादी के बाद का सबसे गलत फैसला’’ करार देते हुए हुड्डा ने कहा कि लोग ‘‘चुनावों में वोटबंदी करके नोटबंदी वाली सरकार’’ को करारा जवाब देंगे.

    उन्होंने कहा, ‘‘लोग पांच राज्यों और बाद में हिमाचल प्रदेश में होने जा रहे विधानसभा चुनावों में नोटबंदी पर अपना जनादेश देंगे. अर्थव्यवस्था पर नोटबंदी का असर जल्द ही नजर आने लगेगा और वित्तीय हालत खराब होगी.’’

    Tags: Bhupinder singh hooda

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर