चंडीगढ़ छेड़छाड़ मामला: पुलिस का बड़ा खुलासा, आरोपियों ने दी थी वर्दी उतरवाने की धमकी

Manoj Rathi | ETV Haryana/HP
Updated: August 11, 2017, 11:28 AM IST
चंडीगढ़ छेड़छाड़ मामला: पुलिस का बड़ा खुलासा, आरोपियों ने दी थी वर्दी उतरवाने की धमकी
चंडीगढ़ छेड़छाड़ मामला
Manoj Rathi | ETV Haryana/HP
Updated: August 11, 2017, 11:28 AM IST
हरियाणा के वरिष्ठ आइएएस अधिकारी वीएस कुंडू की बेटी वर्णिका से छेड़छाड़ के मामले में चंडीगढ़ पुलिस ने कई अहम खुलासे किए हैं. विकास और उसके दोस्त आशीष को मौका ए वारदात से दबोचने वाले पुलिसकर्मियों ने कई बातों को कैमरे से हट कर बताया है.

पुलिसवालों ने बताया कि उस रात उनकी ड्यूटी हाउसिंग बोर्ड पर थी और उन्होंने विकास
बराला की कार रुकवाई तो रईसजादों ने न केवल उन्हें धमकाया बल्कि पिता की पावर का रौब दिखाते हुए वर्दी तक उतरवाने की चेतावनी दी.

हैडकांस्टेबल  सतीश कुमार और वालंटियर बैसाखी ने बताया कि वह एरिया में पेट्रोलिंग कर रहे थे. रात करीब 12.33 पर कंट्रोल रूम से सूचना मिली कि हाउसिंग बोर्ड की ओर जा रही एक युवती को मदद चाहिए. दो युवक उसका पीछा करके छेड़छाड़ और किडनैप करने की कोशिश कर रहे हैं. युवक भी हाउसिंग बोर्ड लाइट प्वाइंट की ओर से आ रहे हैं.

इतना सुनते ही  दोनों पीसीआर कर्मी तत्काल हाउसिंग बोर्ड चौक पर पहुंचे और पीसीआर वैन साइड में लगा दी. नंबर प्लेट देखकर पुलिस ने तत्काल सफारी को रोक लिया.  ड्राइविंग सीट पर आशीष बैठा हुआ था.

वहीं रात की ड्यूटी कर रहे  इंस्पेक्टर स्वर्ण कुमार ने बताया कि आरोपियों ने नशे में पीसीआर कर्मियों को धौंस दिखाते हुए दो मिनट में वर्दी उतरवाने की धमकी दी. लेकिन पुलिसकर्मियों ने बिना खौफ खाए उन्हें दबोच लिया. इतने में ही सूचना पाकर दूसरी पीसीआर में सेक्टर-26 थाने से नाइट जांच सब-इंस्पेक्टर सतनाम सिंह मौके पर पहुंच गए. इसके बाद आरोपियों को थाने में लेकर आ गया.

पुलिस सूत्रों की मानें तो  15 अगस्त को इंस्पेक्टर स्वर्ण कुमार सिंह,  हेडकांस्टेबल सतीश कुमार  और  होमगार्ड वालंटियर बैसाखी  को सम्मानित किया जाएगा.
First published: August 11, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर