Home /News /haryana /

bulldozer on colony number 4 in industrial area phase one chandihgarh nodnc

चंडीगढ़: इंडस्ट्रियल एरिया फेज-1 की कॉलोनी नंबर-4 में चला बुलडोजर, ये है कारण

इंडस्ट्रियल एरिया फेज-1 में स्थित कॉलोनी नंबर-4 में बुलडोजर चलवाया जा रहा है.

इंडस्ट्रियल एरिया फेज-1 में स्थित कॉलोनी नंबर-4 में बुलडोजर चलवाया जा रहा है.

Bulldozer on Colony: रविवार सुबह जब निगम की ओर से बुलडोजर पहुंचा तो काफी संख्या में लोग वहां ​कार्यवाही देखने के लिए पहुंच गए. बुलडोजर के जरिए अवैध रूप से निर्मित मकानों को ढहाया जा रहा है. बता दें कि लोगों को मकान खानी करने में दिक्कत ना हो इसके लिए निगम की ओर से शनिवार को गाड़ियां लगाई गई थीं.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

15 फरवरी को ही कॉलोनी नम्बर चार में नोटिस लगा दिए गए थे.
लोगों का कहना है कि विश्व मजदूर दिवस को ही प्रशासन ने हमने आशियाना छीन लिया है.

चंडीगढ़. ज़िला प्रशासन की ओर से रविवार को इंडस्ट्रियल एरिया फेज-1 में स्थित कॉलोनी नंबर-4 में बुलडोजर चलवाया जा रहा है. यूटी प्रशासन की ओर से इस संबंध में आदेश जारी किया गया था और शनिवार तक सभी जगह पूरी तरह से खाली करने का निर्देश दिया गया था. दरअसल यह कॉलोनी गैरकानूनी रूप से निर्मित है. ऐसे में प्रशासन की ओर से यहां रहने वाले लोगों को 30 अप्रैल तक जगह खाली करने का निर्देश दिया गया था. पिछले कुछ दिनों से यहां से लोग लगातार घर खाली करके दूसरी जगहों पर शिफ्ट हो रहे थे.

बता दें कि इस कारण 500 मीटर के क्षेत्र में 144 लागू कर दी गई थी. रविवार सुबह जब निगम की ओर से बुलडोजर पहुंचा तो काफी संख्या में लोग वहां ​कार्यवाही देखने के लिए पहुंच गए. बुलडोजर के जरिए अवैध रूप से निर्मित मकानों को ढहाया जा रहा है. बता दें कि लोगों को मकान खानी करने में दिक्कत ना हो इसके लिए निगम की ओर से शनिवार को गाड़ियां लगाई गई थीं. पिछले दो माह से इस अभियान को लेकर बात चल रही थी, अब जाकर रविवार को इसका काम शुरू हो गया है.

उधर, यहां रहने वाले लोगों का कहना है कि विश्व मजदूर दिवस यानी एक मई को ही प्रशासन ने हमने आशियाना छीन लिया है. प्रशासन ने इस काम में काफी जल्दबाजी की और यह भी नहीं बताया कि जाना कहां है? 600 में से सिर्फ 290 लोगों को ही मकान मिला है, बाकी लोग सामान के साथ सड़कों पर हैं.

इस कार्यवाही को लेकर 15 फरवरी को ही कॉलोनी नम्बर चार में नोटिस लगा दिए गए थे. इसके बाद से यहां से लोगों का पलायन शुरू हो गया था. यहां से लोगों को दूसरी जगह घर दिए गए हैं. पुर्नवास योजना के तहत मलोया में मकान दिए गए हैं. अधिकारियों के अनुसार आवासीय योजना के तहत 3 हजार रुपये प्रति महीने किराए पर मलोया में मकान दे दिया गया है. इसके अलावा जिन लोगों के पास बायोमीट्रिक सर्वे व अंगूठे के निशान की कॉपी मौजूद है और उन्हें मकान नहीं मिला है, उसके लिए भी व्यवस्था की जा रही है.

जानकारी के लिए बता दें कि चंडीगढ़ की कॉलोनी नम्बर 4, 1970 से बसी है जिसमें 2000 के करीब मकान हैं प्रशासन द्वारा 2006 के हिसाब से बॉयोमेट्रिक्स कर इसको फ्लैट भी अलॉट किए गए लेकिन मौजूदा रिहाईश के मुकाबले फ्लैट कम हैं. चंडीगढ़ के मलोया में 4960 फ्लैट बनाए गए हैं, जिसमे से 2350 पहले ही दिए जा चुके है फिर 2000 के करीब अलग से दिए गए हैं.

Tags: Chandigarh news, Haryana news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर