प्रधानमंत्री के बधाई पत्र में छेड़छाड़ कर उसे बनाया प्रचार का जरिया, अब सीबीआई ने लिया निशाने पर

अमित स्वामी नाम के अंतरराष्ट्रीय स्तर के बॉडी बिल्डिंग और फिजिक स्पोर्ट्स से जुड़े इस खिलाड़ी पर काफी गंभीर आरोप लगे है, जिससे आने वाले वक्त में उसकी मुश्किलें काफी बढ़ने वाली है.

News18 Haryana
Updated: July 29, 2019, 10:09 AM IST
प्रधानमंत्री के बधाई पत्र में छेड़छाड़ कर उसे बनाया प्रचार का जरिया, अब सीबीआई ने लिया निशाने पर
अंतरराष्ट्रीय स्तर के बॉडी बिल्डिंग करने वाले खिलाड़ी के खिलाफ सीबीआई ने कसा शिकंजा (सांकेतिक तस्वीर )
News18 Haryana
Updated: July 29, 2019, 10:09 AM IST
हरियाणा मूल के रहने वाले एक अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी के खिलाफ सीबीआई ने एक मामला दर्ज किया है. अमित स्वामी नाम के अंतरराष्ट्रीय स्तर के बॉडी बिल्डिंग और फिजिक स्पोर्ट्स से जुड़े इस खिलाड़ी पर काफी गंभीर आरोप लगे है, जिससे आने वाले वक्त में उसकी मुश्किलें काफी बढ़ने वाली है.

बधाई  पत्र को गलत तरीके से किया एडिट

दरअसल प्रधानमंत्री मोदी के दफ्तर से एक एडिशनल डाइरेक्टर स्तर के अधिकारी ने सीबीआई के जॉइंट डाइरेक्टर (पॉलिसी ) अमित कुमार को खत लिखा और इस मामले की जानकारी दी गयी कि एक खिलाड़ी द्वारा प्रधानमंत्री के खत को गलत तरीके से "एडिट" करके उससे व्यक्तिगत तौर पर फायदा उठाने की कोशिश कर रहा है. लिहाजा इस मामले की जांच की जाए. मामले की गंभीरता को देखते हुए सीबीआई ने भी शुरुआती तौर पर जांच करके जब काफी सबूतों को इकट्ठा किया और सीबीआई की चंडीगढ़ यूनिट ने मामला दर्ज कर लिया है. सीबीआई ने अमित के खिलाफ प्रधानमंत्री के नाम पर फर्जीवाड़ा करने का आरोप सहित कई संगीन धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है.

पीएम के बधाई पत्र को गलत तरीके से एडिट बनाया प्रचार –प्रसार का जरिया
पीएम के बधाई पत्र को गलत तरीके से एडिट बनाया प्रचार –प्रसार का जरिया


कौन है ये अंतरराष्ट्रीय स्तर का आरोपी खिलाड़ी ?

आरोपी अमित स्वामी अन्तर्राष्ट्रीय बॉडी बिल्डिंग और बॉडी फिजिक स्पोर्ट्स और साउथ एशियन व कॉमनवेल्थ बॉडी बिल्डिंग स्पोर्ट्स फेडरेशन के अध्यक्ष भी है, पिछले साल  किंगडम ऑफ थाईलैंड में सम्पन्न हुई बॉडी बिल्डिंग और फिजिक स्पोर्ट्स के लिए अमित स्वामी को कई पुरस्कार और सम्मान से नवाजा गया था, इस चैंपियनशिप में भारतीय टीम को 5 स्वर्ण , 5 रजत , और 4 कांस्य पदक प्राप्त हुए थे, जिसके बाद देश लौटने पर उन सभी पदक विजेताओं को देश स्तर पर और राज्य स्तर पर सम्मानित किया गया था. हरियाणा में रेवाड़ी के मौजूदा डीसी अशोक शर्मा ने खुद से अमित स्वामी को सम्मानित करते हुए "मेडल ऑफ डेडिकेशन एंड ऑनर" पदक से नवाजा था.

खत को अमित ने "एडिट "करके उसमें कई लाइन खुद से जोड़ा
खत को अमित ने एडिट करके उसमें कई लाइन खुद से जोड़ा (साकेतिक तस्वीर)

Loading...

प्रधानमंत्री दफ़्तर से खिलाड़ी के खिलाफ क्यों हुई शिकायत ?

पिछले साल दीपावली के शुभ अवसर पर 20 नवम्बर 2018 को प्रधानमंत्री के तरफ से उनके दफ़्तर से देश के कई सम्मानित खिलाड़ियों को शुभकामनाएं और पर्व से जुड़े बधाईयां संदेश वाले ग्रीटिंग्स कार्ड वाले खत भेजे गए थे, जिसमें की एक खत अमित स्वामी के नाम से भी भेजा गया था, लेकिन उस खत में "बहुचर्चित बॉडी बिल्डर और फिजिक प्रोमोटर " जैसे शब्दों के जोड़कर उसके बाद उस खत के अंदर कई ऐसे शब्दों और वाक्यों को जोड़ा जिससे वो खत पर्व की शुभकामनाएं का न होकर अमित स्वामी के तारीफ भरा खत बन गया.

खत में की गई काफी तब्दीली

उस खत में काफी तब्दीली करके उसको थाईलैंड में हुए 10th वर्ल्ड बिल्डिंग और फिजिक स्पोर्ट्स चैंपियनशिप का प्रस्सति पत्र बना दिया, जिसको कई विभागों में और कई अधिकारियों को दिखाकर व्यक्तिगत फायदा उठाने की कोशिश की जा रही थी, इसलिए ही ये प्रधानमंत्री दफ़्तर और उसके बाद जांच एजेंसी के राडार पर आ गया.

अमित स्वामी को पूछताछ के लिए भेजा जाएगा नोटिस

सीबीआई के अधिकारियों के मुताबिक अब जल्द ही खिलाड़ी अमित स्वामी को पूछताछ के लिए नोटिस भेजा जाएगा. उसके बाद शुरुआती दौर में उसे चंडीगढ़ में मौजूद सीबीआई के ब्रांच में पूछताछ की जाएगी और अगर जरूरत हुई तो दिल्ली स्थित सीबीआई मुख्यालय भी अमित स्वामी को बुलाया जा सकता है.  फिलहाल कहा जा सकता है कि अमित की मुश्किलें आने वाले वक्त में काफी बढ़ने वाली है, जिसका असर उसके खेल और उसके सम्मान पर भी पड़ने वाला है.

यह भी पढ़ें- राहुल बोस को 442 रुपए के दो केले देना होटल को पड़ा भारी, अब देना होगा 25 हजार का जुर्माना
First published: July 29, 2019, 10:06 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...