कोरोना के बढ़ते मामलों से चिंतित हरियाणा सरकार, CM खट्टर बोले- दिल्ली से सटे जिलों में बुरा हाल

हरियाणा के सीएम खट्टर ने कहा उनकी सरकार कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार से चिंतित है (फाइल फोटो)

हरियाणा के सीएम खट्टर ने कहा उनकी सरकार कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार से चिंतित है (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि कोरोना संक्रमण (Corona Virus) अनुमान से ज्यादा बढ़ रहा है. मानसून में बाढ़ का अनुमान तो लगाया जा सकता है लेकिन अगर सुनामी आ जाये तो अनुमान नहीं लगाया जा सकता है. आज जिस रफ्तार से कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं वो चिंता में डालने वाला है

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 28, 2021, 4:58 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा में कोविड संक्रमण (Corona Virus) के बढ़ने की रफ्तार काफी तेज है. मंगलवार को प्रदेश में 11,931 मामले सामने आए थे जो पहले की तुलना में चार गुणा अधिक है जबकि 84 लोगों की इस दौरान इस महामारी से जान गई है. बुधवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) ने चंडीगढ़ में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर राज्य में कोरोना वायरस के ताजा हालात की जानकारी दी. उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन की सप्लाई (Oxygen Supply) सुचारू रूप से चलाने के काम में हम लगे हुए हैं.

सीएम खट्टर ने बताया कि दिल्ली से सटे जिलों का बुरा हाल है. गुरुग्राम में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 3,684 नए केस मिले हैं. वहीं, फरीदाबाद में भी 1,330 नए मरीजों का पता चला है. उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण अनुमान से ज्यादा बढ़ रहा है. मानसून में बाढ़ का अनुमान तो लगाया जा सकता है लेकिन अगर सुनामी आ जाये तो अनुमान नहीं लगाया जा सकता है. आज जिस रफ्तार से कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं वो चिंता में डालने वाला है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी नहीं है. ऑक्सीजन के ट्रांसपोर्ट की सबसे बड़ी समस्या है. हम ऑक्सीजन के लिए नेटवर्क बनाने में लगे हुए हैं. सरकार पूरी ताकत के साथ काम में लगी हुई है, हमें टैंकरों की जरूरत पड़ रही है. इंडस्ट्री से नाइट्रोजन टैंकर काम में ले रहे हैं, एलपीजी के खाली सिलेंडर को भी इस्तेमाल करने की कोशिश हो रही है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने हमारे ऑक्सीजन का कोटा 70 मीट्रिक टन बढ़ाकर 232 मीट्रिक टन कर दिया है. हमने एयर लिफ्ट कर के दो टैंकरों को ओडिशा भेजा है. साथ ही हमने पांच कंपनियों को ऑक्सीजन सप्लाई का लाइसेंस दिया है, लगभग सात अन्य को बुधवार की शाम तक लाइसेंस दे दिया जायेगा.

खट्टर ने कहा, हमारे ऐसे अधिकारी जो मेडिकल फील्ड से हैं उन्हें भी अस्पतालों में लगाया जा रहा है. मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि व्यवस्था हमारे कंट्रोल में रहेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज