हरियाणा में आज से कई बदलाव होंगे लागू- KGP एक्सप्रेस-वे पर सफर महंगा, 9वीं से 12वीं तक के बच्चों को मुफ्त शिक्षा

एक अप्रैल से नया वित्तीय शुरू हो रहा है. (हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का फाइल फोटो)

एक अप्रैल से नया वित्तीय शुरू हो रहा है. (हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का फाइल फोटो)

Changes from 1st April: हरियाणा में 1 अप्रैल से नया वित्त वर्ष शुरू हो रहा है, ऐसे में बजट में सरकार की ओर से घोषित कई योजनाएं लागू होने जा रही हैं. बुजुर्ग पेंशन धारकों के लिए नया वित्‍त वर्ष खुशियों वाला होने जा रहा है.

  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा में 1 अप्रैल यानि गुरुवार से कई बदलाव होने जा रहे हैं, जिसका सीधा असर आम आदमी पर पड़ेगा. 1 अप्रैल से नया वित्तीय वर्ष (New financial year) शुरू हो रहा है. इसके साथ ही उन तमाम घोषणाओं पर अमल शुरू हो जाएगा, जिनके लिए राज्य सरकार (State Government) ने बजट में प्रावधान किया है. गुरुवार से केजीपी (कुंडली-गाजियाबाद-पलवल एक्सप्रेस-वे) पर वाहन दौड़ाने के लिए अब जेब ज्यादा ढीली करनी होगी, क्योंकि केजीपी पर कार का 15 रुपये तो ट्रक का 100 रुपये तक टोल टैक्स बढ़ा दिया गया है. राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) ने टोल टैक्स बढ़ाने की नई सूची जारी की है. यह बढ़ा हुआ टैक्स 1 अप्रैल से लागू होगा. एनएचएआई ने केजीपी पर टोल टैक्स बढ़ा दिया है, जिससे कुंडली के मुख्य टोल प्लाजा से पलवल तक कोई कार लेकर जाता है तो उसे अब 225 की जगह 240 रुपये टोल टैक्स देना होगा. इसी तरह ट्रक को 1440 की जगह 1540 रुपये तक टोल टैक्स देना होगा.

राज्य में गेहूं की सरकारी खरीद (Wheat Procurement) भी 1 अप्रैल से शुरू हो रही है. किसान आंदोलन के चलते राज्य सरकार इस वर्ष फसल खरीद को लेकर काफी गंभीर दिख रही है. इसी प्रकार बुजुर्गों को भी इस महीने से पेंशन 250 रुपए बढ़कर मिलेगी. मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल ने जब हरियाणा का वर्ष 2021-22 का बजट पेश किया था तो उस बजट में कई राहतों का ऐलान किया था. राज्‍य में वृद्धावस्‍था पेंशन में 250 रुपये की वृद्धि करने घोषणा की गई थी. अब यह पेंशन 2500 रुपये प्रति माह कर दी गई है. पहले बुजुर्गों को प्रति माह 2250 रुपये थी. यह वृद्धि 1 अप्रैल से लागू होगी.

सरकारी स्कूलों में 12वीं कक्षा तक के सभी छात्रों के लिए मुफ्त शिक्षा देने की घोषणा की थी. राज्य में नौवीं से बारहवीं तक के सभी बच्चों को मुफ्त शिक्षा दी जाएगी. इसी के साथ सरकारी स्कूलों में IT शिक्षा को बढ़ावा देने को लेकर डिजिटल क्लासरूम के लिए 700 करोड़ रुपये की योजना तैयार की गई है.

एक लाख परिवारों की आय बढ़ाने की कवायद
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने प्रदेश में 1 लाख परिवारों की सालाना आय बढ़ाने के लिए 1 अप्रैल से अंत्योदय परिवार उत्थान योजना शुरू करने का ऐलान किया है. उन्होंने बताया कि सरकार के संज्ञान में आया था कि बहुत से परिवार ऐसे हैं, जिनकी सालाना आय 1 लाख रुपये भी नहीं है. योजना में शामिल होने के लिए अब तक करीब 13 हजार लोगों का पंजीकरण हो चुका है. अब सरकार द्वारा इन लोगों की इच्छा के अनुसार इन्हें स्वरोजगार के साधन मुहैया करवाए जाएंगे. इसके अलावा इनकी रुचि के अनुसार काम देकर इनकी वार्षिक आय को कम से कम एक लाख रुपये किया जाएगा. इस योजना के पहले चरण में एक लाख परिवारों को शामिल किया जाएगा. इसके लिए परिवारों को चिन्हित किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज