मनोहर लाल ने दी सौगात, 52 साल तक कर्मचारियों की मौत पर आश्रित को मिलेगी नौकरी

चंडीगढ़ में शनिवार को सीएम मनोहर लाल खट्टर के साथ हुई विभिन्न कर्मचारी संगठनों की बैठकों में सीएम ने लोगों का कई सौगात दी.

News18 Haryana
Updated: July 21, 2019, 10:57 AM IST
मनोहर लाल ने दी सौगात, 52 साल तक कर्मचारियों की मौत पर आश्रित को मिलेगी नौकरी
52 वर्ष तक कर्मचारी की मौत पर आश्रित को मिलेगी नौकरी : सीएम मनोहर लाल
News18 Haryana
Updated: July 21, 2019, 10:57 AM IST
चंडीगढ़ में शनिवार को सीएम मनोहर लाल के साथ हुई विभिन्न कर्मचारी संगठनों की बैठकों में सीएम ने लोगों का कई सौगात दी. प्रदेश में एक बार फिर से एक्सग्रेशिया पॉलिसी लागू होगी.  यानी कर्मचारियों की मृत्यु पर उनके आश्रितों को सरकारी नौकरी मिलेगी.  सीएम मनोहर लाल ने शनिवार को चार बड़े कर्मचारी संगठनों के साथ मैराथन बैठकों के बाद पहली अगस्त से सातवें वेतन आयोग के अनुसार बढ़ा आवास भत्ता  (एचआरए) देने की घोषणा कर दी, इसके साथ ही 23 साल बाद फिर से सभी कर्मचारियों को एक्सग्रेसिया (मृतकों के आश्रितों को नौकरी) का लाभ देने का ऐलान किया.

शर्त के साथ लागू होगी एक्सग्रेसिया पॉलिसी

यह पॉलिसी इस शर्त के साथ लागू होगी कि अगर किसी कर्मचारी को नौकरी करते हुए पांच वर्ष पूरे नहीं हुए हैं और उसका निधन हो जाता है तो उसे आश्रितों को रोजगार नहीं मिलेगा. इसी तरह मृतक कर्मचारी की उम्र 52 साल से ज्यादा है तो मृतकों के आश्रितों को उनकी नौकरी नहीं मिलेगी .

मृतक कर्मचारी के परिवार को मिलेगा लाभ

हालांकि परिजनों को उतने वर्षों की तनख्वाह जरूर दी जाएगी, जितनी मृतक कर्मचारी की नौकरी शेष होगी. उन मृतक कर्मियों के परिवारों को भी योजना में शामिल किया जाएगा, जिन्होंने कर्मचारी की मृत्यु के बाद वेतन के तौर पर आर्थिक लाभ नहीं लिया है. सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों अनुसार सभी कर्मचारियों को मकान किराया भत्ता (एचआरए) मिलेगा. बढ़ा हुआ एचआरए पहली अगस्त से लागू किया जाएगा,  इससे सरकार पर कई करोड़ रुपये का मासिक बोझ पड़ेगा.

सीएम मनोहर लाल ने कहा कि कर्मचारियों को मकान किराया भत्ता (एचआरए) मिलेगा. बढ़ा हुआ एचआरए पहली अगस्त से मिलेगा ( फाइल फोटो: सीएम मनोहर लाल)
सीएम मनोहर लाल ने कहा कि कर्मचारियों को मकान किराया भत्ता पहली अगस्त से मिलेगा ( फाइल फोटो: सीएम मनोहर लाल)


सरकार सभी कर्मचारियों के बनाएगी मेडकिल कार्ड
Loading...

कैशलेस मेडकिल सुविधा लागू करने के लिए सरकार सभी कर्मचारियों के कार्ड भी बनाएगी. अभी तक सरकार ने पांच-छह बीमारियों में ही कैशलेस मेडिकल सुविधा लागू की हुई थी. फिलहाल सीएम मनोहर ने कहा कि सभी इनडोर बीमारियों में कैशलेस मेडिकल सुविधा का लाभ कर्मचारियों को दिया जाएगा. अभी तक कैंसर, हार्ट, ब्रेन, सड़क दुर्घटना जैसी बड़ी बीमारियां ही कैशलेस के दायरे में थीं.

यह भी पढ़ें- हरियाणा में गिरते भू जल स्तर को लेकर सीएम खट्टर ने चिंता जाहिर की
First published: July 21, 2019, 10:56 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...