हरियाणा में कोरोना संक्रमितों की संख्या 45000 के पार, CM खट्टर बोले- अस्पतालों में बेड की कमी नहीं

हरियाणा में कोरोना के 45 हजार मामलों से चिंता, सीएम खट्टर ने दिए ये निर्देश.

हरियाणा में कोरोना के 45 हजार मामलों से चिंता, सीएम खट्टर ने दिए ये निर्देश.

Haryana COVID-19 Update: राज्य में सक्रिय कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों की कुल संख्या 45,000 के पार कर गई है. इस बीच मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि हम कोविड 19 संक्रमण को रोकने के लिए सभी उपाय कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 20, 2021, 7:20 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा में कोरोना संक्रमण के चलते हालात लगातार बिगड़ रहे हैं. ताजा रिपोर्ट के मुताबिक राज्य में सक्रिय कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों की कुल संख्या 45,000 के पार कर गई है. इस बीच मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि हम कोविड-19 संक्रमण को रोकने के लिए सभी उपाय कर रहे हैं. राज्य कोरोना मरीजों के इलाज के लिए अस्पतालों में बेड की कमी नहीं है. सभी आवश्यकताओं को पूरा किया जा रहा है.

गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण के तेजी से फैलने के मामलों को लेकर देश के कई राज्यों में चिंता बढ़ गई है. कोरोना मरीजों की संख्या में जबर्दस्त तेजी आ रही है. हरियाणा में भी कोरोना के केस लगातार सामने आने के कारण राज्य सरकार सभी स्वास्थ्य इकाइयों को अलर्ट कर दिया है. मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने मंगलवार को कहा है कि अब तक राज्य में सक्रिय कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों की कुल संख्या 45,000 के पार कर गई है. कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए सरकार सभी उपाय कर रही है. कोरोना मरीजों के इलाज के लिए अस्पतालों में बेड की कमी नहीं है. सभी अवश्यकताओं को पूरा किया जा रहा है. राज्य की चिकित्सा ऑक्सीजन आवश्यकताओं को पूरा किया जा रहा है. हमें इंडियन ऑयल के पानीपत प्लांट से लिक्विड ऑक्सीजन सप्लाई मिलती है. हमने सुनिश्चित किया है कि मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति सुचारू रहे.

haryana covid-19, corona news, ML khattar

रिकवरी दर में आ रही गिरावट
हरियाणा में बढ़ते कोरोना के मामलों के बीच गिर रही रिकवरी दर लगातार चिंता बढ़ा रही है. इस समय प्रदेश में रिकवरी दर 99 प्रतिशत से गिरकर 87 प्रतिशत तक पहुंच गई है. वहीं, प्रदेश के अलग-अलग जिलों की बात करें तो दक्षिण हरियाणा के जिलों की रिकवरी दर जीटी बेल्ट के जिलों के मुकाबले अच्छी है. रेवाड़ी जिले की रिकवरी दर इस समय सबसे अधिक है, जबकि जींद और फतेहाबाद की रिकवरी दर सबसे कम है. इस समय पूरे प्रदेश में मात्र पांच जिले ही ऐसे हैं, जहां की रिकवरी दर 90 प्रतिशत से ऊपर है. इनमें महेंद्रगढ़ 95, पलवल-94, नूंह और रोहतक की 91 प्रतिशत से अधिक है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज