Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    CM खट्टर का बड़ा ऐलान- जान गंवाने वाले 50 पुलिसकर्मियों के परिवार के एक-एक सदस्य को सरकारी नौकरी

    मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर
    मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर

    हरियाणा पुलिस (Haryana Police) ने एक और कल्याणकारी कदम उठाते हुए अपने पेंशनरों (Pensioners) के लिए दुर्घटना बीमा मृत्यु कवर के तहत दी जाने वाली राशि को 17 लाख रुपये से बढ़ाकर 30 लाख रुपये कर दिया है.

    • Share this:
    चंडीगढ़. राज्य के पुलिसकर्मियों के आश्रितों के कल्याण के लिए एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया है. हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) ने घोषणा की कि 50 पुलिसकर्मियों के परिवारों के एक-एक सदस्य को 1 नवंबर 2020 तक राज्य सरकार की योजना (एक्स-ग्रेशिया स्‍कीम) के तहत सरकारी नौकरी (Government Job) दी जाएगी. इसके अलावा उन्होंने यह भी घोषणा की कि शहीद एसपीओ कप्तान सिंह के परिवार को भी शहीद कॉन्स्टेबल रविंदर सिंह के परिवार को दी जा रही एक्स-ग्रेशिया राशि के बराबर 30 लाख रुपये की अनुदान राशि प्रदान की जाएगी. एसपीओ कप्तान सिंह और कांस्टेबल रविंदर सिंह दोनों की रात्रि गश्त के दौरान अपराधियों ने हत्‍या कर दी थी.

    मनोहर लाल खट्टर पंचकूला में पुलिस लाइन, मोगीनंद में पुलिस स्मृति दिवस कार्यक्रम के अवसर पर बोल रहे थे. इस अवसर पर उन्होंने वॉर मेमोरियल पर माल्यार्पण कर पुलिस शहीदों को श्रद्धांजलि भी अर्पित की. इस मौके पर हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता भी उपस्थित थे. मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान में पुलिस विभाग में एक्स-ग्रेशिया के 50 मामले लंबित हैं. मैंने इस संबंध में पुलिस महानिदेशक मनोज यादव से बात की है और निर्णय लिया है कि 50 पुलिसकर्मियों के परिवार के एक-एक सदस्य को 1 नवंबर 2020 तक राज्य सरकार की योजना के तहत सरकारी नौकरी प्रदान की जाएगी.

    प्रदेश सरकार ने राज्य सरकार के कर्मचारियों के लिए एक नई एक्स-ग्रेशिया योजना लागू की है. इसके तहत यदि किसी कर्मचारी की 52 वर्ष की आयु से पहले मृत्यु हो जाती है, तो उनके परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी प्रदान की जाएगी. पिछले एक साल के दौरान देशभर में अपने कर्तव्य का निर्वहन करते हुए जीवन का बलिदान देने वाले भारतीय पुलिस बल के 264 शहीदों को सीएम ने श्रद्धांजलि दी.



    उन्होंने कहा कि यह दिन हरियाणा पुलिस और भारतीय पुलिस के उन बहादुर बेटों को समर्पित है जिन्होंने देश की एकता व अखंडता तथा देश के नागरिकों के जीवन और संपत्ति की सुरक्षा के लिए अपना बलिदान दिया है. मनोहर लाल ने कहा कि बहादुर जवानों के असामयिक निधन के बाद यह सरकार की जिम्मेदारी है कि उनके परिवार की देखभाल करे और यह सुनिश्चित करे कि असामयिक निधन के कारण उनके जीवन में खालीपन महसूस न हो. उन्होंने कहा कि पुलिस विभाग द्वारा बीमा कवर के एक विशेष समझौते के तहत आश्रितों को 30 लाख रुपये की मुआवजा राशि प्रदान की जाती है. इसके अतिरिक्त हरियाणा पुलिस ने एक और कल्याणकारी कदम उठाते हुए अपने पेंशनरों के लिए दुर्घटना बीमा मृत्यु कवर के तहत दी जाने वाली राशि को 17 लाख रुपये से बढ़ाकर 30 लाख रुपये कर दिया है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज