कांग्रेस का साथ छोड़ राजकुमार वाल्मीकि ने थामा इनेलो का दामन, हुड्डा पर लगाए गंभीर आरोप
Chandigarh-City News in Hindi

कांग्रेस का साथ छोड़ राजकुमार वाल्मीकि ने थामा इनेलो का दामन, हुड्डा पर लगाए गंभीर आरोप
इनेलो में शामिल होते राजकुमार वाल्मीकि

राजकुमार वाल्मीकि (Rajkumar Valmiki) ने कहा इनेलो पार्टी (Indian National Lokdal) को मजबूती दिलाने और सत्ता दिलाने में सकारात्मक भूमिका निभाएंगे.

  • Share this:
चंडीगढ़. पूर्व सरकार में CPS रहे कांग्रेस नेता राजकुमार वाल्मीकि (Rajkumar Valmiki) सैंकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ अभय सिंह चौटाला (Abhay Singh Chautala) के नेर्तत्व में इनेलो में शामिल हुए. राजकुमार वाल्मीकि कांग्रेस की टिकट पर 1991 में करनाल जिले के जुंडला हलके से विधायक चुने गए और सीपीएस बने. 1998 और 2014 में कांग्रेस की टिकट पर लोक सभा का भी चुनाव लड़ चुके वाल्मीकि ने शामिल होने के बाद कहा कि वो अभय चौटाला की कार्य शैली से बहुत प्रभवित हुए हैं. अभय चौटाला को किसानों का मसीहा बताते हुए कहा कि जहां मुख्य विपक्षी दल इस महामारी के दौर में अपने घरों में दुबके रहे वहीं इनेलो नेता चाहे मंडियों में किसानों व मजदूरों से हुई लूट हो या विधान सभा में जनता से हुई लूट जैसे मुद्दों को उठाने की बात हो, हमेशा सबसे आगे खड़े मिले हैं.

चाहे परिवार की बात हो या पार्टी को आगे बढ़ाने की बात हो अभय चौटाला नें अपना फर्ज बखुबी निभाया है. उन्होंने कहा कि वह अपने पूरे समाज के  साथ इनेलो पार्टी को मजबूती दिलाने और सत्ता दिलाने में सकारात्मक भूमिका निभाएंगे. वाल्मीकि ने क्रांग्रेस प्रदेशाध्य़क्ष कुमारी शैलजा और भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि इन्होंने मुझे धोखा दिया है और हमेशा वाल्मीकि समाज को वोट बैंक की तरह इस्तेमाल किया है.

हुड्डा और शैलजा पर लगाए गंभीर आरोप



उन्होंने कहा कि शैलजा को जब लगता था कि वो चुनाव हार जाएंगी तो मुझे टिकट दे कर बलि का बकरा बना देती थी. 2019 में भूपेंद्र हुड्ड ने निलोखेड़ी से टिकट काट कर बंताराम वाल्मीकि को देकर मेरे और मेरे समाज के साथ जुल्म और अन्याय किया.
पार्टी में दिया जाएगा मान-सम्मान

इनेलो नेता अभय चौटाला ने राजकुमार वाल्मीकि को अपने साथियों सहित पार्टी में शामिल होने पर कहा कि उन्हें पार्टी में पूरा मान स मान दिया जाएगा और वो ताऊ देवी लाल की नीतियों का अनुसरण करते हुए पार्टी को मजबूत करेंगे. वाल्मीकि नें दलितों के हकों की लड़ाई हमेशा मुखर हो कर लड़ी और गोहाना व मिर्चपुर प्रकरण को सुलझाने में भी अहम भूमिका निभाई,
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज