Home /News /haryana /

हरियाणा में भी किसान कर्ज माफी का कार्ड खेलेगी कांग्रेस

हरियाणा में भी किसान कर्ज माफी का कार्ड खेलेगी कांग्रेस

बुजुर्ग वोटर्स को भी लुभाने की कोशिश कर रही है कांग्रेस

बुजुर्ग वोटर्स को भी लुभाने की कोशिश कर रही है कांग्रेस

कांग्रेस बुजुर्ग वोटर्स को भी लुभाने की कोशिश कर रही है इसलिये 5100 रुपये बुढ़ापा पेंशन देने का बड़ा वादा उसके मेनिफेस्टो में नजर आयेगा. वहीं महिलाओं की सुरक्षा ,कानून व्यवस्था, युवाओं को रोज़गार, उद्योग को बढ़ाना भी मेनिफेस्टो का हिस्सा होंगे.

अधिक पढ़ें ...
    चंडीगढ़. भूपेंद्र सिंह हुड्डा (Bhupinder Singh Hooda) की कप्तानी में फिर से सत्ता में वापसी का सपना देख रही कांग्रेस हरियाणा (Haryana) में भी किसान (Farmer) कार्ड खेलने जा रही है, जिस पर बीजेपी कांग्रेस को झूठ की फैक्ट्री करार दे रही है. कांग्रेस हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए 11 अक्टूबर को चंडीगढ़ में मेनिफेस्टो जारी करेगी. इस पर अनिल विज ने कांग्रेस पर तीखे कटाक्ष करते हुए कांग्रेस को झूठ की फैक्ट्री तक करार दे दिया. दरअसल, घोषणा पत्र में कांग्रेस की रणनीति किसानों को लुभाने वाली रहने वाली है.

    वहीं कांग्रेस बुजुर्ग वोटर्स को भी लुभाने की कोशिश कर रही है इसलिये 5100 रुपये बुढ़ापा पेंशन देने का बड़ा वादा उसके मेनिफेस्टो में नजर आयेगा. वहीं महिलाओं की सुरक्षा ,कानून व्यवस्था, युवाओं को रोज़गार, उद्योग को बढ़ाना भी मेनिफेस्टो का हिस्सा होंगे.

    हरियाणा में कितना कारगर होगा ये फार्मूला

    सूबे के मुखिया कहते है कि जो धोखा कांग्रेस ने एमपी और राजस्थान के किसानों को दिया है. उसके बाद लोग उनके झांसे में नहीं आने वाले. फिलहाल कांग्रेस हरियाणा में उसी फॉर्मूले पर चल रही है जिसने उसे इसी साल दो राज्यों में सत्ता का स्वाद चखाया था. अब देखना ये होगा कि ये फॉर्मुला हरियाणा में कितना कारगर रहता है.

    ये भी पढ़ें:- बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने अपने ही नेता के खिलाफ बाजार में किया विरोध प्रदर्शन 

    ये भी पढ़ें- आतंकवादियों के मरने पर रोती हैं सोनिया गांधी: CM खट्टर

    Tags: Bhupinder singh hooda, Haryana Assembly Election 2019, Haryana Election 2019

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर