कोरोना की चिंता: हरियाणा के CM खट्टर की मार्मिक अपील, कहा- किसान मानवता के नाते खत्म करें अपना आंदोलन

हरियाणा के सीएम ने किसानों से आंदोलन खत्म करने की अपील की है.

हरियाणा के सीएम ने किसानों से आंदोलन खत्म करने की अपील की है.

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने किसान भाईयों से अपील की है कि इस संकट के समय वे अपने आंदोलन को समाप्त कर दें. सरकार सदैव किसान भाईयों की बात सुनती आई है. विचारों में किसी प्रकार का अंतर हो सकता है लेकिन इस समय सजग रहने की आवश्यकता है.

  • Last Updated: April 16, 2021, 10:03 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. कोरोना की दूसरी लहर के कारण बने चिंताजनक हालात को देखते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने किसान भाईयों से अपील की है कि इस संकट के समय वे अपने आंदोलन को समाप्त कर दें. सरकार सदैव किसान भाईयों की बात सुनती आई है. विचारों में किसी प्रकार का अंतर हो सकता है लेकिन इस समय सजग रहने की आवश्यकता है. इसलिए किसान अपने आंदोलन को खत्म करें और घरों को वापस लौटें. मुख्यमंत्री ने ‘हरियाणा की बात’ कार्यक्रम के माध्यम से प्रदेश की जनता को संबोधित किया है.

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि आंदोलन करना हर किसी का लोकतांत्रिक अधिकार है, परंतु इस समय जो वैश्विक महामारी पूरी मानवता के लिए खतरा बनी हुई है, उससे बचाव करना भी हम सबकी सामूहिक जिम्मेवारी है. इसलिए किसानों को नैतिकता के आधार पर इस महामारी से बचाव के लिए अपना आंदोलन समाप्त करना चाहिए. मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले वर्ष कोरोना महामारी से बचाव के लिए लॉकडाउन लागू किया गया था. परंतु उस समय औद्योगिक गतिविधियां रूकने के कारण थोड़ी समस्या का सामना करना पड़ा. लेकिन इस बार पिछले वर्ष के अनुभव से सीखते हुए औद्योगिक गतिविधियां बंदी नहीं होंगी, वे चलती रहेंगी.

लेबर अपना काम निश्चिंत होकर करें: सीएम खट्टर 

मुख्यमंत्री खट्टर ने श्रमिकों से आग्रह किया कि वे निश्चिंत होकर अपने कार्य में लगे रहे, किसी प्रकार से घबराने की जरूरत नहीं है. उन्हें किसी प्रकार की कोई कठिनाई नहीं आने दी जाएगी. हरियाणा सरकार आपके साथ खड़ी है. उन्होंने कहा कि पिछली बार भी लगभग 1500 करोड़ रुपये सरकार की ओर से राशन व आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए खर्च किए गए थे. इसलिए चिंता करने की आवश्यकता नहीं है, सरकार हर कदम पर आपके साथ है.
मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले वर्ष की भांति इस वर्ष भी गेहूं की खरीद कोरोना के साए में ही हो रही है. इस बार भी प्रदेश सरकार की ओर से मंडियों व खरीद केंद्रों में कोविड प्रोटोकॉल का पालन सुनिश्चित करवाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि लगभग 80 लाख मीट्रिक टन गेहूं मंडियों में आना है, आधे से ज्यादा यानी लगभग 50 लाख मीट्रिक टन मंडियों में आ चुका है. इसमें से 40 लाख मीट्रिक टन की खरीद की जा चुकी है और 25 लाख मीट्रिक टन का उठान हो चुका है.

 गुरुवार को हमारे यहां सबसे ज्यादा केस आए 

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले डेढ़ महीने में प्रदेश में कल सबसे ज्यादा कोरोना पॉजीटिव के 5858 मामले एक दिन में आए. एक समय में हरियाणा का रिकवरी रेट 98 प्रतिशत चला गया था जो अब 90 प्रतिशत पर आ गया है, जो चिंता का विषय है. डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ सभी अलर्ट हैं. 30,000 से ज्यादा टेस्टिंग प्रतिदिन हो रही है और पॉजीटिव पाए जाने पर ट्रेकिंग और ट्रेसिंग की जा रही है. किसी भी प्रकार की सहायता या जानकारी प्राप्त करने के लिए हेल्पलाइन नंबर भी बनाए हैं. पंचकूला, गुरुग्राम और फरीदाबाद जिलों के लिए हेल्पलाइन नंबर- 85588 93911 और अन्य जिलों के लिए 1075 है.



इसलिए लगाया कोरोना नाइट कर्फ्यू

सीएम खट्टर ने कहा कि वर्तमान में कोरोना मामलों में वृद्धि के चलते सरकार ने कोरोना कर्फ्यू भी लागू किया है. रात 10 बजे से लेकर प्रात 5 बजे तक रहेगा और बिना पास के कोई भी व्यक्ति बाहर न निकले. जहां तक सामूहिक कार्यक्रम जैसे विवाह आदि कार्यक्रम है उसमें भी इंडोर में 50 प्रतिशत क्षमता और अधिकतम 50 व्यक्ति तथा आउटडोर में 200 से ज्यादा व्यक्तिग एकत्र नहीं होने चाहिए. मुख्यमंत्री ने कहा कि पहली से बारहवीं तक सभी स्कूलों को 30 अप्रैल, 2021 तक बंद कर दिया गया है और न केवल स्कूल बंद किए हैं बल्कि इसी सप्ताह दसवीं की परीक्षाओं को भी रद्द कर दिया है. जहां तक 12वीं की परीक्षा की बात है उनको स्थगित किया गया है और जैसे ही स्थिति ठीक होती है उसके बाद टाइम टेबल बनाकर परीक्षा का आयोजन किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज