अपना शहर चुनें

States

हरियाणा में शादी और समारोह में भीड़ की सीमा तय, PM मोदी के साथ बैठक के बाद खट्टर सरकार का फैसला

6 जिलों में हॉल के अंदर 50, बाहर 100 लोग आ सकेंगे
6 जिलों में हॉल के अंदर 50, बाहर 100 लोग आ सकेंगे

Haryana COVID-19 Update: हरियाणा सरकार ने गुरुग्राम, रेवाड़ी रोहतक, पानीपत, सोनीपत और हिसार में सार्वजनिक, धार्मिक और राजनीतिक कार्यक्रमों को लेकर पाबंदियां लगा दी हैं.

  • Share this:
चंडीगढ़. देश के 8 राज्यों में कोरोना (COVID-19) की तीसरी लहर शुरू हो गई है. कोरोना नियंत्रण को लेकर मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने इन राज्यों के मुख्यमंत्रियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संवाद किया. बैठक के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी मुख्यमंत्रियों से कोरोना बढ़ने के कारणों की पहचान कर बचाव के कदम उठाने के निर्देश दिए हैं. साथ ही कोरोना की गाइडलाइन को भी सख्ती से लागू करने को कहा है. बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शिरकत करने के बाद हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल (Manohar Lal) ने बताया कि उन्होंने प्रधानमंत्री को कोरोना बीमारी पर नियंत्रण को लेकर हर संभव कदम उठाने का आश्वासन दिया है.

मुख्यमंत्री ने बताया कि सरकार ने अगले कुछ दिनों में प्रदेश में एक करोड़ मास्क बंटवाने का फैसला किया है. इसके अलावा सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर भी 6 सबसे अधिक प्रभावित जिलों में कुछ कदम उठाए हैं.  गुरुग्राम, रेवाड़ी, रोहतक, पानीपत, सोनीपत और हिसार में सार्वजनिक, धार्मिक और राजनीतिक कार्यक्रमों को लेकर कुछ पाबंदियां लगाई गई हैं. अब इन जिलों में किसी भी तरह के समारोह को लेकर इंडोर कार्यक्रम में 50 लोगों से अधिक और आउटडोर में 100 से अधिक लोग शिरकत नहीं कर सकते.

लेकिन दोनों ही परिस्थितियों में समारोह स्थल की क्षमता दोगुनी होनी चाहिए. इसी तरह बाकी जिलों में इंडोर कार्यक्रम करने पर अधिकतम 100 लोग और आउटडोर कार्यक्रम करने पर अधिकतम 200 लोग ही शिरकत कर सकते हैं. लेकिन यहां पर भी कुल क्षमता के 50 फ़ीसदी ही लोगों को आमंत्रित किया जा सकता है.



सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों को दी जाएगी कोरोना वैक्सीन
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बैठक के दौरान कोरोना वैक्सीन तैयार होने के बाद इसके वितरण पर भी चर्चा हुई. मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बताया कि सबसे पहले कोविड-19 कोरोना महामारी के इलाज में लगे स्वास्थ्य कर्मियों को दी जाएगी. इसके बाद सार्वजनिक जीवन में अहम सेवाएं देने वाले लोगों को दवा की डोज़ दी जाएगी. इसके बाद उम्र के हिसाब से इस दवा का डोज दिया जाएगा. इसको लेकर जल्द ही विस्तार में विवरण केंद्र सरकार जारी करेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज