हरियाणा: नई आबकारी नीति में शराब से कोविड सेस हटा, फिर भी जाम छलकाना होगा महंगा

हरियाणा मेंं शराब होगी महंगी

हरियाणा मेंं शराब होगी महंगी

Haryana Cabinet Decisions: हरियाणा सरकार (Haryana Government) ने शराब कारोबारियों से मिले सुझाव के आधार पर एक साल के लिए राज्य की नई आबकारी पॉलिसी (New Excise Policy) को मंजूरी प्रदान कर दी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 23, 2021, 12:43 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा की मनोहर लाल खट्टटर की सरकार ने मंत्रिमंडल बैठक में अनेक अहम निर्णय लिए हैं. सीएम की अध्यक्षताग में यहां सिविल सचिवालय में हुई बैठक में नई आबकारी नीति (New Excise Policy) को मंजूरी दी गई. नई नीति 20 मई 2021 से 19 मई 2022 तक लागू रहेगी. इसमें शराब से कोविड सेस हटा लिया गया है. हालांकि, इसके बावजूद राज्य में शराब महंगी होगी. शराब कारोबारियों के लिए इस साल नया वित्तीय वर्ष 20 मई से आरंभ होगा, जो अगले साल 19 मई तक चलेगा.

हरियाणा में कोरोना के चलते एक साल से शराब पर दो से 50 रुपये तक का कोविड सेस लगाया जा रहा था. देसी शराब के मामले में कोविड उप-कर पांच रुपये प्रति क्वार्टर, भारत में बनी विदेशी शराब के मामले में 20 रुपये प्रति क्वार्टर, स्ट्रांग बीयर के मामले में पांच रुपये एवं अन्य बीयर के मामले में दो रुपये और आयातित विदेशी शराब (आइएफएल) के मामले में 375 मिलीलीटर से बड़े पैक पर 50 रुपये प्रति पैक कोविड सेस लगाया जा रहा था.

वित्त वर्ष 2020-21 में कुल आबकारी संग्रहण 6792 करोड़ रुपये का रहा, जबकि पिछले साल सरकारी खजाने में 6361 करोड़ रुपये आए थे. इस तरह लॉकडाउन और कोरोना में आर्थिक मंदी के बावजूद आबकारी राजस्व में 6.69 फीसद का इजाफा हुआ है. नई पालिसी में आबकारी राजस्व में 15 फीसद की बढ़ोतरी का लक्ष्य है.

बता दें कि आबकारी एवं कराधान विभाग के अधिकारियों ने अधिक राजस्व हासिल करने की मंशा से तीन साल, दो साल और एक साल के लिए तीन पॉलिसी तैयार की थी, लेकिन ज्यादातर ठेकेदार एक साल वाली पॉलिसी लागू किए जाने के पक्ष में थे. हरियाणा कैबिनेट की बैठक में भी एक साल वाली शराब पॉलिसी को मंजूरी प्रदान की गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज