लाइव टीवी

हरियाणा: बिना वोटिंग राज्यसभा सांसद बने दीपेंद्र हुड्डा, दुष्यंत गौतम और रामचंद्र जांगड़ा
Chandigarh-City News in Hindi

News18 Haryana
Updated: March 18, 2020, 5:41 PM IST
हरियाणा: बिना वोटिंग राज्यसभा सांसद बने दीपेंद्र हुड्डा, दुष्यंत गौतम और रामचंद्र जांगड़ा
राज्यसभा के लिए चुन लिए जाने के बाद रामचंद्र जांगड़ा (दायें), प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला, दुष्यंत गौतम.

तीन सीटों पर तीन ही उम्मीदवारों (Candidates) ने नामांकन किया था. जिसका फैसला सर्वसम्मिति से हो गया. ऐसे में नामांकन (Nomination) वापसी की आखिरी तारीख 18 मार्च दोपहर 3 बजे थी.

  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा में राज्यसभा (Rajyasabha) की दो सामान्य सीटों और 1 उपचुनाव की सीट पर बुधवार को दीपेंद्र हुड्डा, दुष्यंत गौतम और रामचंद्र जांगड़ा को चुन लिया गया. भाजपा ने पूर्व सांसद बीरेंद्र सिंह (Birender Singh) द्वारा इस्तीफा दे दिए जाने के बाद खाली हुई सीट पर दुष्यंत गौतम को मैदान में उतारा था. जबकि सामान्य सीट के लिए रामचंद्र जांगड़ा को मौका दिया गया था. वहीं कांग्रेस ने एक सीट पर दीपेंद्र हुड्डा को मैदान में उतारा था.

यदि कोई भी दल एक और उम्मीदवार मैदान में उतारता तो चुनाव की नौबत आती. जांच में तीनों प्रत्याशियों के नामांकन पत्र सही मिले थे. तीन सीटों पर तीन ही उम्मीदवारों ने नामांकन किया था. जिसका फैसला सर्वसम्मिति से हो गया. ऐसे में नामांकन वापसी की आखिरी तारीख 18 मार्च दोपहर 3 बजे थी. इसके बाद निर्वाचन अधिकारी अजीत बालाजी जोशी ने तीनों को जीत का सर्टिफिकेट दे दिया.

दीपेंद्र के नामांकन में नहीं पहुंची थी सैलजा



इससे पहले मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में विधानसभा परिसर में भाजपा विधायक दल की बैठक हुई, जबकि पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने अपने चंडीगढ़ आवास पर कांग्रेस विधायकों के साथ मंथन किया. हरियाणा कांग्रेस की अध्यक्ष कुमारी सैलजा न तो इस बैठक में शामिल हुई और न ही दीपेंद्र सिंह हुड्डा का नामांकन कराने विधानसभा पहुंची.



दीपेंद्र के मुकाबले नहीं उतारा उम्मीदवार

भाजपा उम्मीदवारों रामचंद्र जांगड़ा और दुष्यंत कुमार गौतम का नामांकन कराने के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल, प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला, गृह मंत्री अनिल विज और परिवहन मंत्री मूलचंद और पूर्व मंत्री मनीष ग्रोवर समेत कई मंत्री और विधायक पहुंचे थे. भाजपा ने दो नियमित सीटों पर सिर्फ एक ही उम्मीदवार उतारा, जबकि उम्मीद की जा रही थी कि दीपेंद्र सिंह हुड्डा के मुकाबले भी भाजपा अपना कोई उम्मीदवार दे सकती है, लेकिन ऐसा हुआ नहीं.

ये भी पढ़ें:

बड़े जल संकट की कगार पर रेवाड़ी, कुमारी शैलजा ने राज्यसभा में उठाया मुद्दा

 
हरियाणा में 2017 से पहले के सभी किसान क्लब भंग, मुख्यमंत्री ने दिए आदेश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 18, 2020, 5:35 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading