Home /News /haryana /

किसान आंदोलन पर हरियाणा और पंजाब सरकार आमने-सामने, CM खट्टर ने अमरिंदर पर किया पलटवार

किसान आंदोलन पर हरियाणा और पंजाब सरकार आमने-सामने, CM खट्टर ने अमरिंदर पर किया पलटवार

किसानों के प्रदर्शन पर आमने सामने हरियाणा-पंजाब (फाइल फोटो)

किसानों के प्रदर्शन पर आमने सामने हरियाणा-पंजाब (फाइल फोटो)

हरियाणा के मुख्यमंत्री खट्टर (CM Manohar Lal Khattar) ने किसानों के 'दिल्ली मार्च' (Delhi March) पर ट्वीट कर कहा, 'कैप्टन अमरिंदर सिंह जी, मैं फिर कह रहा हूं, यदि किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कोई दिक्कत आएगी तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा- इसलिए, कृप्या भोले-भाले किसानों को भड़काना बंद करिए. मैं पिछले तीन दिन से आपसे संपर्क करने की कोशिश कर रहा हूं लेकिन आपने निर्णय किया है कि आप मुझसे संवाद नहीं करना चाहते'

अधिक पढ़ें ...
    चंडीगढ़. किसानों के आंदोलन (Farmers Agitation) के मुद्दे पर पंजाब आर हरियाणा के मुख्यमंत्री आमने-सामने आए गए हैं. हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर (CM Manohar Lal Khattar) ने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (CM Capt. Amrinder Singh) पर पलटवार किया है. उन्होंने किसानों के 'दिल्ली मार्च' (Delhi March) पर ट्वीट कर कहा, 'कैप्टन अमरिंदर सिंह जी, मैं फिर कह रहा हूं, यदि किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कोई दिक्कत आएगी तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा- इसलिए, कृप्या भोले-भाले किसानों को भड़काना बंद करिए. मैं पिछले तीन दिन से आपसे संपर्क करने की कोशिश कर रहा हूं लेकिन आपने निर्णय किया है कि आप मुझसे संवाद नहीं करना चाहते.'



    दरअसल इससे पहले गुरुवार को ही कैप्टन अमरिंदर सिंह ने खट्टर सरकार द्वारा आंदोलनकारी किसानों को जबरन जगह-जगह रोकने को असंवैधानिक और अलोकतांत्रिक करार देते हुए अपनी आपत्ति जताई थी. उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'पंजाब में किसान लगभग दो महीन से शांतिपूर्वक तरीके से विरोध कर रहे थे. हरियाणा सरकार आंदोलनकारी किसानों पर बल प्रयोग कर क्यों उन्हें भड़का रही है. क्या किसानों को हाईवे पर शांतिपूर्वक मार्च निकालने का अधिकार नहीं है?'





    26-27 नवंबर को आंदोलनकारी किसान 'दिल्ली मार्च' निकाल रहे हैं

    बता दें कि केंद्र के बनाए कृषि कानूनों के विरोध में बड़ी संख्या में पंजाब और हरियाणा के किसान 26 और 27 नवंबर को 'दिल्ली मार्च' कर रहे हैं. इसे देखते हुए दिल्ली की हरियाणा से लगते तमाम बॉर्डर को सील कर दिया गया है. किसानों को आगे बढ़ने से रोकने के लिए यहां बड़ी संख्या में पुलिसबल की तैनाती की गई है.

    कृषि कानूनों को वापस लिए जाने को लेकर दबाव बनाने के लिए अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति (AIKSCC), राष्ट्रीय किसान महासंघ और भारतीय किसान यूनियन के विभिन्न धड़ों ने हाथ मिलाया है और एक संयुक्त किसान मोर्चा का गठन किया है. 26 और 27 नवंबर को दिल्ली में बुलाए गए इस प्रदर्शन को 500 से ज्यादा किसान संगठनों का समर्थन मिला है.

    किसानों को आशंका है कि नए कानूनों से न्यूनतम समर्थन मूल्य की व्यवस्था खत्म हो जाएगी और वो बड़े कारोबारियों की दया पर निर्भर हो जाएंगे.

    Tags: Amrinder singh, CM Manohar Lal Khattar, Delhi news, Farmers Agitation, Farmers Bill, Farmers Protest, Haryana news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर