Gurugram : भोंडसी जेल में अपराधियों को नशीला पदार्थ सप्लाई करने में डिप्टी सुपरिंटेंडेंट गिरफ्तार
Chandigarh-City News in Hindi

Gurugram : भोंडसी जेल में अपराधियों को नशीला पदार्थ सप्लाई करने में डिप्टी सुपरिंटेंडेंट गिरफ्तार
भोंडसी जेल के डिप्टी सुपरिंटेंडेंट को गिरफ्तार कर लिया गया.

डिप्टी सुपरिंटेंडेंट धर्मवीर चौटाला के कमरे से 12 मोबाइल सिम और सवा दो सौ ग्राम चरस बरामद हुआ है. आरोप है कि जेल में बंद कैदियों को मोबाइल सिम की सप्लाई वे करते थे. पहले भी जेल सुपरिंटेंडेंट धर्मवीर चौटाला पर ऐसे आरोप लगे हैं.

  • Share this:
गुरुग्राम. पुलिस के ट्रैप में फंसे भोंडसी जेल (Bhondsi Jail) के डिप्टी सुपरिंटेंडेट (Deputy Suprintendet) धर्मवीर चौटाला. पुलिस ने उनके और उनके साथी को गिरफ्तार (Arrest) कर लिया है. डिप्टी सुपरिंटेंडेट के पास से सवा दो सौ ग्राम चरस बरामद किया है. उनके कमरे से 12 मोबाइल सिम भी मिले हैं.

वैसे तो, गुरुग्राम भोंडसी जेल के अंदर से अपराधी अपराध का खेल खेलते हैं - यह आरोप अक्सर लगता रहा है. कई बार अपराधी जेल से ही अपने गैंग को चलाते हैं और अपराध को अंजाम देते हैं. हर बार पुलिस और जेल अधिकारी यह दावा करते हैं कि अपराधियों को जेल से अपराध नहीं करने दिया जाता. लेकिन गुरुग्राम में डिप्टी सुपरिंटेंडेंट जेल धर्मवीर चौटाला ही अपराधियों का साथी बन गया और अपराधियों को उनका साजो सामान पहुंचाने लगा. पुलिस की क्राइम यूनिट ने भोंडसी जेल के डिप्टी सुपरिंटेंडेंट और उसके साथी को सवा दो सौ ग्राम चरस के साथ गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है.

पहले भी धर्मवीर चौटाला पर लगे हैं संगीन आरोप



दरअसल सोहना के सहायक पुलिस आयुक्त को जेल सुपरिंटेंडेंट के खिलाफ कई शिकायतें प्राप्त हुई थीं. जिसमें जेल में बंद कैदियों को मोबाइल सिम सप्लाई और नशीला पदार्थ सप्लाई करने जैसा गंभीर मामला भी था. पुलिस ने डिप्टी सुपरिंटेंडेंट धर्मवीर चौटाला के लिए ट्रैप लगाया और आज डिप्टी सुपरिंटेंडेंट और उसके साथी रवि उर्फ गोल्डी को गिरफ्तार कर मामले का खुलासा कर दिया. वहीं इस मामले में एसीपी क्राइम की मानें तो जेल के डिप्टी सुपरिंटेंडेंट धर्मवीर के घर से 11 मोबाइल सिम के साथ-साथ 225 ग्राम चरस भी बरामद की गई है. पुलिस की मानें तो अभी जांच शुरुवाती दौर में है और पुलिस जेल के डिप्टी सुपरिंटेंडेंट और उसके साथी के बीच कैसे और कब से कड़ी जुड़ी थी या जेल में बंद कितने कैदियों को डिप्टी सुपरिंटेंडेंट ने मोबाइल सिम, मोबाइल फोन या नशीला पदार्थ सप्लाई किया है - इसकी जांच की जा रही है. एसीपी क्राइम ने कहा कि डिप्टी सुपरिंटेंडेंट धर्मवीर चौटाला के खिलाफ पहले भी ऐसे संगीन आरोप लगते रहे हैं, लेकिन हर जांच से बाहर निकल डिप्टी साहब पैसों के लिए यह कारनामा बदस्तूर जारी रखे हुए है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज