10 साल की बच्ची ने दिया था बेटी को जन्म, मामा पर लगा था आरोप, नहीं मिला DNA

दस साल की बच्ची का मामा द्वारा रेप करने से प्रेग्नेंट होने के बाद पैदा हुई नवजात बच्ची का डीएनए अभियुक्त से नहीं मिलने के बाद मामला गंभीर होता दिख रहा है. सेंट्रल फॉरंसिक लैबोरेट्री के अनुसार नवजात और बलात्कार के अभियुक्त मामा की डीएनए रिपोर्ट मैच नहीं हुई है.

News18Hindi
Updated: September 13, 2017, 12:36 PM IST
10 साल की बच्ची ने दिया था बेटी को जन्म, मामा पर लगा था आरोप, नहीं मिला DNA
प्रतीकात्मक तस्वीर
News18Hindi
Updated: September 13, 2017, 12:36 PM IST
दस साल की बच्ची का मामा द्वारा रेप करने से प्रेग्नेंट होने के बाद पैदा हुई नवजात बच्ची का डीएनए अभियुक्त से नहीं मिलने के बाद मामला गंभीर होता दिख रहा है. सेंट्रल फॉरंसिक लैबोरेट्री के अनुसार नवजात और बलात्कार के अभियुक्त मामा की डीएनए रिपोर्ट मैच नहीं हुई है.

रिपोर्ट के अनुसार जो बच्ची पैदा हुई है उसका पिता अभियुक्त मामा नहीं है. अब सवाल उठ रहा है कि इस मामले का असली गुनहगार कौन हैं. पुलिस की जांच पर सवालियां निशान खड़े हो गए हैं.

फॉरंसिक लैब की रिपोर्ट को पुलिस ने सोमवार को अदालत में पेश किया था. रिपोर्ट में सामने आया है कि नाबालिग ने जिस बच्ची को जन्म दिया है, उसका डीएनए आरोपी के साथ मैच नहीं हुआ.

डीएनए रिपोर्ट आने के बाद एक तरफ जहां बच्ची का परिवार मामा कुल बहादुर को ही आरोपी बता रहा है, वहीं चंडीगढ़ पुलिस ने दोबारा जांच शुरू कर दी है. पुलिस मंगलवार को दोबारा बच्ची के घर पहुंची. यहां बच्ची, उसकी बहन और मां से बात की गई. पुलिस के मुताबिक पूछताछ में दोनों ने बताया कि सिर्फ कुलबहादुर ने ही बच्ची के साथ रेप किया है.

बताते चलें कि नाबालिग लड़की को 13 जुलाई को पेट में दर्द होने की शिकायत पर अस्पताल लाया गया था। उसे उससे माता-पिता लेकर आए थे. मेडिकल जांच में लड़की के 26 हफ्ते के गर्भ होने की बात सामने आई थी, जबकि कानून में 20 हफ्ते तक के गर्भ को ही गिराने की इजाजत है.

'सेक्स एडिक्ट है राम रहीम, इसी वजह से हो रही उसकी तबियत खराब'

मामला चंडीगढ़ के डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में गया, लेकिन वहां से ठुकराए जाने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने भी बीते महीने दुष्कर्म पीड़िता को अबॉर्शन कराने की परमिशन देने की मांग की याचिका को खारिज कर दिया था.

स्कूल से स्वतंत्रता दिवस मनाकर लौट रही 8वीं की छात्रा से रेप

कोर्ट ने यह कदम उसके जीवन को खतरे के मद्देनजर लिया था. बाद में 10 साल की नाबालिग ने बच्ची को जन्म दिया. सुप्रीम कोर्ट ने 10 साल की उम्र में मां बनने वाली बच्ची को 10 लाख रुपये मुआवजा देने के आदेश दिए गए थे.

EXCLUSIVE: पीरियड्स का बहाना बना राम रहीम के चंगुल से बचती थी साध्वियां
News18 Hindi पर Bihar Board Result और Rajasthan Board Result की ताज़ा खबरे पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें .
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Haryana News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर