शराब पीकर वाहन चलाने वालों पर खट्टर सरकार सख्त, नहीं होगी जमानत

सदन में विभिन्न मुद्दों पर बातचीत के दौरान शराब पीकर वाहन चलाने वालों को लेकर कांग्रेस विधायक कर्ण दलाल ने कहा कि ऐसा करने वालों पर नॉन बेलेबल धाराएं लगनी चाहिए.

ETV Haryana/HP
Updated: March 14, 2018, 3:49 PM IST
शराब पीकर वाहन चलाने वालों पर खट्टर सरकार सख्त, नहीं होगी जमानत
शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा
ETV Haryana/HP
Updated: March 14, 2018, 3:49 PM IST
हरियाणा में अब शराब पीकर वाहन चलाने वालों की खैर नहीं. रामबिलास शर्मा ने कहा कि इस मुद्दे पर सारे सदन की एक ही राय है. शराब पीकर दुर्घटना करने वालों के खिलाफ हरियाणा में शीघ्र नॉन बेलेबल एक्ट बनेगा, जिसके लिए केंद्र से अनुमति लेनी बाकी है.

साथ ही रामबिलास शर्मा ने ये भी स्वीकार किया कि यूपी के माध्यम से कट्टों की सप्लाई हरियाणा में हमेशा से होती रही है. सदन में विभिन्न मुद्दों पर बातचीत के दौरान शराब पीकर वाहन चलाने वालों को लेकर कांग्रेस विधायक कर्ण दलाल ने कहा कि ऐसा करने वालों पर नॉन बेलेबल धाराएं लगनी चाहिए. वहीं दुर्घटना या हादसा करने वाले से किसी की मौत होती है तो उसके खिलाफ कानून सख्त किया जाए.

वहीं इस विषय में अभय चौटाला ने कहा कि हरियाणा में हीरोइन और स्मैक का प्रचलन बढ़ रहा है. यह बहुत चिंता का विषय है. साथ ही उन्होंने कहा कि मेरे गांव मे 15 से लेकर 26-27 साल के 60 प्रतिशत लोग इन कामों में लिप्त है.

चर्चा के जवाब में सरकार की ओर से बताया गया कि हरियाणा में वर्ष 2017 में नशीले पदार्थों की तस्करी के कुल 2247 मामले दर्ज किए गए और लगभग सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया गया. आरोपियों के पास से 86.28 किलो अफीम, 124.736 किलो चरस, 9549.किलो चूरा पोस्त, 9.494 किलो स्मैक, 4367.881 किलो गांजा और 3.918 किलो हेरोइन बरामद हुई.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर