हरियाणा पुलिस की गांधीगिरी: विधानसभा चुनाव नजदीक, इसलिए नहीं काट रही चालान!

जब भी कोई नया नियम लागू होता है तो विभाग सबसे पहले लोगों को जागरुक करता है. लेकिन नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू होने के बाद लोगों को पहले जागरुक नहीं किया गया बल्कि सीधे उनके भारी भरकम चालान काट दिए गए.

News18 Haryana
Updated: September 11, 2019, 10:16 AM IST
हरियाणा पुलिस की गांधीगिरी: विधानसभा चुनाव नजदीक, इसलिए नहीं काट रही चालान!
हरियाणा ट्रैफिक पुलिस की गांधीगिरी
News18 Haryana
Updated: September 11, 2019, 10:16 AM IST
चंडीगढ़. चालान काटने का रिकॉर्ड बनाने वाली हरियाणा (Haryana) की ट्रैफिक पुलिस (Traffic Police) अब बैकफुट पर है. इसके पीछे पुलिस का तर्क है कि कुछ दिन चालान (Challan) काटने के बजाए पुलिस (Police) वाहन चालकों को जागरुक करने का काम करेगी. नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू होने के बाद हरियाणा से भारी भरकम चालान काटे जाने की खबरें आई थी. सबसे पहले 15 हजार रुपए वैल्यू की स्कूटी का 23 हजार का चालान भी गुरुग्राम में ही काटा गया था. इसके बाद एक ट्रैक्टर का चालान 59 हजार रुपये काटा गया था.

इसके बाद तो मानो जैसे बड़ी-बड़ी रकम के चालान काटने की पुलिस में होड़ सी मच गई थी. तीन वाहनों के एक लाख से अधिक के चालान काटे गए. बुलेट से पटाखे जैसी आवाज़ निकालने पर 17 हजार से ज्यादा का चालान काटा गया. लेकिन एकदम से हरियाणा की ट्रैफिक पुलिस अब चालान काटने की जगह चालकों को जागरुक क्यों करने जा रही है ये बड़ा सवाल.

दरअसल जब भी कोई नया नियम लागू होता है तो विभाग सबसे पहले लोगों को जागरुक करता है. लेकिन नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू होने के बाद लोगों को पहले जागरुक नहीं किया गया बल्कि सीधे उनके भारी भरकम चालान काट दिए गए. इसके चलते लोगों में सरकार के प्रति रोष बढ़ता जा रहा था. बता दें कि हरियाणा में इसी साल विधानसभा चुनाव हैं और जनता के रोष को देखते हुए सरकार बेकफुट पर आ गई.

ट्रैफिक पुलिस को दिए निर्देश

हरियाणा पुलिस के एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि सरकार की ओर से निर्देश हैं कि लोगों के चालान नहीं काटे जाएं और उनको जागरुक किया जाए. हरियाणा सरकार विधानसभा चुनाव से पहले किसी तरह का रिस्क नहीं लेना नहीं चाहती, जिसके चलते पुलिस को ये निर्देश दिए गए.

चालकों को फूल देकर जागरुक कर रही पुलिस

लोगों के भारी भरकम चालान काटने वाली हरियाणा की ट्रैफिक पुलिस अब लोगों को जागरुक करने में लग गई है. चालान काटने की जगह अब लोगों को फूल देकर ट्रैफिक नियमों और नए मोटर व्हीकल एक्ट के बारे में जागरुक किया जा रहा है. लोगों का कहना है कि नए नियम लागू होने के बाद पुलिस को कुछ हफ्तों के लिए लोगों को जागरुक करना चाहिए था.
Loading...

यह भी पढ़ें: हुड्डा ने बसपा से गठबंधन की बात को नकारा, बोले- नहीं की मायावती से मुलाकात

इमाम और उसकी पत्नी पर था जादू टोना करने का शक, सोते समय कर डाली दोनों की हत्या

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 11, 2019, 10:16 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...