लाइव टीवी

Harayana Result: मुख्यमंत्री पद पर दुष्यंत चौटाला की नजर, कांग्रेस का डिप्टी सीएम का ऑफर ठुकराया

News18 Haryana
Updated: October 24, 2019, 12:45 PM IST
Harayana Result: मुख्यमंत्री पद पर दुष्यंत चौटाला की नजर, कांग्रेस का डिप्टी सीएम का ऑफर ठुकराया
वर्तमान परिस्थिति में दुष्यंत चौटाला की जेजेपी किंग मेकर की भूमिका में है.

हरियाणा (Haryana) से इस वक्त बड़ी खबर आ रही है. बताया जा रहा है कि दुष्यंत चौटाला (Dushyant Chautala) ने कांग्रेस (Congress) की तरफ से ऑफर किए गए डिप्टी सीएम (Deputy CM) के पद को ठुकरा दिया है. राज्य में फिलहाल किसी भी पार्टी को बहुमत मिलता हुआ नजर नहीं आ रहा है ऐसे में नए गठबंधन की कवायद शुरू हो चुकी है.

  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा (Haryana) से इस वक्त बड़ी खबर आ रही है. बताया जा रहा है कि दुष्यंत चौटाला (Dushyant Chautala) ने कांग्रेस (Congress) की तरफ से ऑफर किए गए डिप्टी सीएम (Deputy CM) के पद को ठुकरा दिया है. हरियाणा विधानसभा चुनाव (Haryana Assembly Elections 2019) के शुरुआती रुझानों में हंग असेम्बली (Hung Assembly) की संभावनाओं के बीच नए गठबंधन की कवायद भी शुरू हो चुकी है. दुष्यंत चौटाला की नई नवेली जन नायक जनता पार्टी (JJP) किंग मेकर (King Maker) की भूमिका में उभर कर सामने आई है. ऐसे में बीजेपी (BJP) और कांग्रेस दोनों दल दुष्यंत चौटाला को साधने की कोशिश कर रहे हैं. इसी को ध्यान में रखकर कांग्रेस ने जेजेपी प्रमुख को अपने पाले में करने के लिए डिप्टी सीएम का प्रस्ताव दिया था. आ रही खबरों के मुताबिक, दुष्यंत ने इस ऑफर को ठुकरा दिया है.

हरियाणा की सत्ता की चाबी जेजेपी के पास
पार्टी के शानदान प्रदर्शन पर जेजेपी प्रमुख ने कहा, 'मैं सबको धन्यवाद करता हूं हमें वोट देने के लिए. एक भी मंत्री नहीं जीत रहा है. रुझान अच्छे हैं. एक एक साथी की मेहनत का नतीजा है. जो लोग हमे बच्चों की पार्टी कहते थे आज हार रहे है.' इससे पहले सुबह में दुष्यंत ने कहा था कि कांग्रेस और बीजेपी दोनों दल 40 सीट जीत नहीं जीत पाएंगे. हरियाणा की सत्ता की चाबी जेजेपी के पास रहेगी. जैसे-जैसे रुझान आ रहे हैं, दुष्यंत चौटाला की बात सही लग रही है. अब दुष्यंत चौटाला को अपने पाले में करने के लिए बीजेपी और कांग्रेस लग गई है.

बीजेपी ने दी बादल को जिम्मेदारी

सूत्रों का कहना है कि बीजेपी ने दुष्यंत चौटाला पर डोरे डालने के लिए प्रकाश सिंह बादल को जिम्मेदारी दी है. बादल परिवार के चौटाला परिवार से अच्छे रिश्ते हैं. जब अजय और अभय चौटाला के बीच आईएनएलडी पर कब्जे को लेकर झगड़ा हुआ था तो भी बादल परिवार ने मध्यस्थता करवाने की कोशिश की थी, लेकिन यह कोशिश सफल नहीं हुई. आखिरकार दिसंबर 2018 में अजय चौटाला के बेटों दुष्यंत और दिग्विजय ने मिलकर जननायक जनता पार्टी बना ली.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 24, 2019, 12:28 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...