Assembly Banner 2021

हरियाणा में बनेगा एशिया का सबसे बड़ा वेयरहाउस, 12 हजार लोगों को मिलेगा जॉब: दुष्यंत चौटाला

दुष्यंत चौटाला ने बड़ा बयान दिया है, जिसमें उन्होंने कहाकि फ्लिपकॉर्ट प्रदेश में दो विशाल वेयरहाउस बनाएगा.

दुष्यंत चौटाला ने बड़ा बयान दिया है, जिसमें उन्होंने कहाकि फ्लिपकॉर्ट प्रदेश में दो विशाल वेयरहाउस बनाएगा.

हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत‌ चौटाला का बड़ा बयान सामने आया है. उन्होंने कहा कि फ्लिपकार्ट कंपनी के साथ करार हुआ है, जिसमें कंपनी 140 एकड़ में दो फेज में वेयरहाउस बनाएगी. इससे प्रदेश के 12 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा.

  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत‌ चौटाला (Haryana Deputy Chief Minister Dushyant Chautala ) का बड़ा बयान सामने आया है. उन्होंने कहा कि हरियाणा में फ्लिपकार्ट (Flipkart) कंपनी के साथ करार हुआ है, जिसमें कंपनी 140 एकड़ में दो फेज में वेयरहाउस बनाएगी. पिछले 1 वर्ष में कई कंपनियां हरियाणा में निवेश करने के लिए आगे आई हैं. 160 एकड़ में ATL बैटरी का एक प्लांट सोहना के अंदर लगाया जा रहा है. 2 सबसे बड़े वेयरहाउस हरियाणा के अंदर फ्लिपकार्ट कंपनी लेकर आ रही है. पंजाब, हिमाचल, जम्मू-कश्मीर, राजस्थान, दिल्ली और पश्चिम यूपी में वेयरहाउस से समान सप्लाई होगा.

एशिया का सबसे बड़ा हाईटेक वेयरहाउस हरियाणा में बनेगा 

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि इन दोनों वेयरहाउस में करीब 12 हजार लोगों को परमानेंट रोजगार मिलेगा. इसके अलावा डिलीवरी बॉय के माध्यम से भी रोजगार मिलेगा. एशिया का सबसे बड़ा और हाईटेक वेयरहाउस हरियाणा की धरती पर बनेगा. अप्रत्यक्ष रूप से भी बड़ी तादाद में रोजगार मिलेगा. हरियाणा एंटरप्राइज प्रमोशन पॉलिसी के तहत बेनिफिट्स भी दिए जाएंगे. 45 दिन में यदि कंपनी की तरफ से टाईअप किया जाता है तो टारगेट है कि 2022 तक पहला वेयरहाउस शुरू हो जाए.



निजी क्षेत्र में 75 फीसदी नौकरी देने का मसौदा तैयार 
75% निजी क्षेत्र में रोजगार के रूल लगभग फाइनल हो चुके हैं. 1 मई का नोटिफिकेशन हम जारी करते हैं. कुछ रूल्स में कंपनियों के सुझाव के मुताबिक बदलाव भी किए गए है. हमने पिछले लॉकडाउन में भी इंडस्ट्रीज का पूरा ध्यान रखा था. भविष्य में केंद्र द्वारा अगर कोई ऐसी गाइडलाइन आती है तो उसका प्रमुखता से ध्यान रखा जाएगा लेकिन अभी तक स्टेट के पास इस प्रकार का कोई रिस्ट्रिक्शन नहीं आई.

कल प्रधानमंत्री के साथ सभी राज्यों की चर्चा है उसके बाद यह देखना है कि किसी प्रकार का निर्णय होता है. इंडस्ट्रीज चलती रहेगी तो ही मार्केट के अंदर डिमांड और सप्लाई का चक्र बना रहेगा. कोरोना से बचाव के तमाम नियमों कि पालना जरूरी है वैक्सीनैश्न भी जरूरी है 45 वर्ष से ऊपर कि आयु के लोगों के लिए
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज