रोजगार: ​HSSC के इस फैसले से हजारों युवाओं ने ली राहत की सांस

एचएसएससी ने सरकारी भर्तियों में पांच अंक पाने के लिए एग्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट से शपथ पत्र बनवाने की शर्त खत्म कर दी है.

News18 Haryana
Updated: June 20, 2019, 7:07 PM IST
रोजगार: ​HSSC के इस फैसले से हजारों युवाओं ने ली राहत की सांस
HSSC ने मजिस्ट्रेट से शपथ पत्र बनवाने की शर्त खत्म कर दी है
News18 Haryana
Updated: June 20, 2019, 7:07 PM IST
हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग (एचएसएससी) ने हजारों युवाओं को तहसीलों के चक्कर कटवाने के बाद अब राहत दे दी है. एचएसएससी ने सरकारी भर्तियों में पांच अंक पाने के लिए एग्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट से शपथ पत्र बनवाने की शर्त खत्म कर दी है. अब आवेदकों को सेल्फ अटेस्टेड यानि स्व-सत्यापित शपथ पत्र देना होगा कि उनके परिवार में से कोई भी सरकारी नौकरी में नहीं है. हरियाणा में पहले भी स्व-सत्यापित शपथ पत्र ही देना होता था. गौरतलब है कि एचएसएससी ने पुलिस, ग्राम सचिव और कैनाल पटवारी समेत कई अन्य पद के करीब 10 हजार पदों की भर्ती निकाली है. इन नौकरियों के लिए कर्मचारी चयन आयोग ने आवेदकों के लिए यह अनिवार्य कर दिया था कि उन्हें मजिस्ट्रेट से उनके परिवार का कोई भी सदस्य किसी सरकारी नौकरी में नहीं होगा. इस शपथ पत्र के बदले में आयोग आवेदक को पांच अंक दे रहा था. अब नई व्यवस्था में इसकी अनिवार्यता खत्म करके स्व सत्यापित शपथ पत्र देने की बात है.

शपथ पत्र बनवाने के लिए रोज हो रहा था हंगामा

आयोग की मजिस्ट्रेट से शपथ बनाने की शर्त ने आवेदकों के लिए परेशानी खड़ी कर दी थी. आवेदन जमा करने की आखिरी तारीख के करीब आते ही लघु सचिवालयों और तहसीलों में शपथ पत्र बनवाने के लिए युवाओं की भीड़ उमड़ने लगी है. हर रोज लघु सचिवालयों और तहसीलों में हंगामे तक की नौबत आ रही थी.

स्टांप पेपर की हुई जमकर कालाबाजारी

शपथपत्र बनवाने के लिए कई जगहों पर दुकानदारों ने जरूरी कागजात की एक फोटो कॉपी के दस-दस रुपये वसूले. शपथ पत्र बनवाने के लिए 10 रुपये का स्टांप पेपर 50-100 रुपये तक में बेचा गया. शपथपत्र बनवाने के नाम पर भी युवाओं से पैसे वसूले गए. तहसील परिसरों में न तो लड़कियों के लिए अलग से लाइन थी न ही किसी प्रकार की अन्य सुविधाएं.

यह भी पढ़ें:  घर में घुसकर 3 युवकों ने की छेड़खानी, छात्रा ने किया सुसाइड

इंटरनेशनल ताइक्वांडो प्रतियोगिता में सक्षम ने जीता कांस्य

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 20, 2019, 7:07 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...