लाइव टीवी

पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर ED का कसा शिकंजा, 4 घंटे तक हुई पूछताछ

News18 Haryana
Updated: December 4, 2019, 3:47 PM IST
पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर ED का कसा शिकंजा, 4 घंटे तक हुई पूछताछ
भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर कसा शिकंजा

चंडीगढ़ स्थित ईडी दफ्तर में भूपेंद्र सिंह हुड्डा से यह पूछताछ हुई. बुधवार सुबह हुड्डा ईडी दफ्तर पहुंचे थे जिसके बाद तकरीबन दो बजे के बाद वो ईडी के दफ्तर से पिछले गेट से बाहर निकले. सूत्रों के मुताबिक मानेसर लैंड स्कीम मामले में भूपेंद्र सिंह हुड्डा से ये पूछताछ की गई है.

  • Share this:
चंडीगढ़. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने हरियाणा (Haryana) के दो बड़े नेताओं पर शिकंजा कसा है. बुधवार को एजेंसी द्वारा जहां चौटाला के तेजा खेड़ा स्थित फार्म हाउस पर छापेमारी की गई, वहीं राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा (Bhupinder Singh Hooda) से भी ईडी ने पूछताछ की. चंडीगढ़ स्थित ईडी दफ्तर में भूपेंद्र सिंह हुड्डा से यह पूछताछ हुई. बुधवार सुबह हुड्डा ईडी दफ्तर पहुंचे थे जिसके बाद दोपहर दो बजे के बाद वो ईडी के दफ्तर से पिछले गेट से बाहर निकले. सूत्रों के मुताबिक मानेसर लैंड स्कीम मामले में भूपेंद्र सिंह हुड्डा से ये पूछताछ की गई है.




क्या है पूरा मामला
27 अगस्त, 2004 को आईएनएलडी सरकार ने गुरुग्राम (गुड़गांव) के मानेसर, लखनौला और नौरंगपुर की 912 एकड़ जमीन आईएमटी बनाने के लिए सेक्शन-4 का नोटिस जारी किया. इसके बाद कांग्रेस सत्ता में आई. तत्कालीन सीएम हुड्डा ने आईएमटी रद्द कर 25 अगस्त, 2005 में सार्वजनिक कामों के लिए जमीन अधिग्रहण के लिए सेक्शन-6 का नोटिस जारी कराया. ये मुआवजा 25 लाख रुपये एकड़ तय हुआ.किसानों को हुआ नुकसान
अवॉर्ड के लिए सेक्शन-9 का नोटिस भी जारी हुआ, पर इससे पहले बिल्डर्स ने किसानों को अधिग्रहण का डर दिखा 400 एकड़ जमीन औने-पौने दाम पर खरीद ली. वर्ष 2007 में बिल्डर्स की 400 एकड़ जमीन अधिग्रहण से मुक्त कर दी गई. इससे किसानों को करीब 1500 करोड़ का नुकसान हुआ.

ये भी पढ़ें-

पलवल में सवारियों से भरी प्राइवेट बस पेड़ से टकराई, 60 यात्री घायल

शादी से लौट रहे 4 दोस्तों की कार ट्रक से टकराई, चारों की मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 4, 2019, 3:25 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर