Gurugram: फर्जी कॉल सेंटर से US के नागरिकों को धमकाते-ठगते थे, 3 गिरफ्तार

हरियाणा के गुरुग्राम में फेक कॉल सेंटर का खुलासा.

हरियाणा के गुरुग्राम में फेक कॉल सेंटर का खुलासा.

Fake Call center in Gurugram: एसीपी साइबर क्राइम का कहना है कि शुरुआती जानकारी में या कॉल सेंटर बीते 6 महीने से वारदातों को अंजाम देता रहा है, लेकिन इन तीनों को पुलिस रिमांड पर लेकर इनकी कुंडली खंगाली जा रही है. जांच के बाद यह साफ हो पाएगा कि यह तीनों किसी और वारदात में शामिल तो नहीं रहे हैं?

  • Share this:

गुरुग्राम. हरियाणा की साईबर सिटी गुरुग्राम (Gurugram) में पुलिस की साइबर क्राइम टीम में फर्जी कॉल सेंटर (Fake Call center) पर रेड कर करोड़ों के फर्जीवाड़े का खुलासा किया है. दरअसल, गुरुग्राम पुलिस साइबर क्राइम टीम इस फर्जी कॉल सेंटर के बारे में काफी समय से शिकायतें मिल रही थी. इस पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने देर रात गोल्फ कोर्स एक्सटेंशन रोड पर रेड डाली. साइबर क्राइम पुलिस ने मौके से तीन युवकों को गिरफ्तार किया है. इसमें से गुजरात का रहने वाला अभिषेक इस फर्जी कॉल सेंटर का मास्टरमाइंड बताया जा रहा है. बहरहाल, गुरुग्राम पुलिस ने तीनों युवकों को गिरफ्तार कर मामले की तफ्तीश शुरू कर दी है.

कैसे करते थे ठगी

एसीपी साइबर क्राइम करण गोयल की मानें तो कॉल सेंटर में काम करने वाले युवक और युवतियां खुद को एफआरएस यानी सेंट्रल रिसोर्स सिस्टम, जोकि डिपार्टमेंट ऑफ सोशल सिक्योरिटी एडमिनिस्ट्रेशन के तहत आता है, का अधिकारी बता यूएस के नागरिकों को कॉल कर डरा धमका कर उनके एसएसएन (जैसा अपने भारत मे आधार नंबर है, उसी तर्ज पर) नंबर को ब्लॉक करने की धमकी दे यूएस डॉलर्स ठगते आ रहे थे.   एसीपी साइबर क्राइम का कहना है कि वारदात में शामिल अभिषेक नाम का युवक गुजरात का रहने वाला है और चार्टर्ड अकाउंटेंट की परीक्षा में फेल हो चुका है, जबकि दोनों युवक देवांग अवस्थी और हर्ष ग्रेजुएट हैं.

जांच कर रही पुलिस
एसीपी साइबर क्राइम का कहना है कि शुरुआती जानकारी में या कॉल सेंटर बीते 6 महीने से वारदातों को अंजाम देता रहा है, लेकिन इन तीनों को पुलिस रिमांड पर लेकर इनकी कुंडली खंगाली जा रही है. जांच के बाद यह साफ हो पाएगा कि यह तीनों किसी और वारदात में शामिल तो नहीं रहे हैं?

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज