Kisan Aandolan: हरियाणा सरकार ने 17 जिलों में इंटरनेट सेवा पर लगाई रोक

सरकार ने 15 जिलों में इंटरनेट सेवा बंद कर दी है. (फाइल फोटो).

सरकार ने 15 जिलों में इंटरनेट सेवा बंद कर दी है. (फाइल फोटो).

Farmer Protest: किसान आंदोलन के मद्देनजर हरियाणा की बीजेपी सरकार ने प्रदेश के 15 जिलों में इंटरनेट सेवाओं पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है. सोनीपत, पलवल व झज्जर में पहले ही इंटरनेट सेवाओं पर रोक है.

  • Share this:
चंडीगढ़. किसान आंदोलन (Farmer Protest) के मद्देनजर हरियाणा की बीजेपी सरकार ने प्रदेश के 17 जिलों में इंटरनेट सेवाओं पर तत्काल प्रभाव से रोक (Internet Service Ban) लगा दी है. हरियाणा (Haryana) के जिन जिलों में यह रोक लगाई गई है, उनमें अंबाला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, करनाल, कैथल, पानीपत, हिसार, जींद, रोहतक, भिवानी, चरखी दादरी, फतेहाबाद, रेवाड़ी और सिरसा शामिल हैं. इन जिलों में वॉयस कॉल को छोड़कर इंटरनेट की सभी सेवाएं 30 जनवरी, 2021 शाम 5 बजे तक के लिए बंद करने का निर्णय लिया गया है. आपको बता दें कि सोनीपत, पलवल व झज्जर में पहले ही इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगी हुई है.

गणतंत्र दिवस पर भड़की हिंसा के बाद हरियाणा सरकार एक्शन मोड में आ गई है. इसी कड़ी में दिल्ली के साथ लगते हरियाणा के जिलों में मोबाइल सर्विस को बंद कर दिया गया था. केंद्रीय गृह सचिव राजीव अरोड़ा ने मंगलवार की देर शाम यह आदेश जारी किया. इसके तहत हरियाणा के सोनीपत, पलवल और झज्जर में इंटरनेट और SMS सर्विस बंद रहेगी. केवल वॉइस कॉल ही एक्टिवेट थी.

Youtube Video


सोशल मीडिया का हो सकता है गलत इस्तेमाल
हरियाणा गृह विभाग द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि किसान आंदोलन के दौरान सोशल मीडिया के जरिए फेक न्यूज फैलायी जा सकती है जिससे राज्य की कानून व्यवस्था बिगड़ सकती है. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म और एसएमएस के जरिए भीड़ को भड़काने की भी कोशिश की जा सकती है. एहतियात के तौर पर सरकार द्वारा इंटरनेट सेवा को बंद करने का फैसला लिया गया है. आदेशों का पालन नहीं करने पर कार्रवाई भी हो सकती है.

ये भी पढ़ें: Delhi News: सिंघू बॉर्डर किले में तब्दील, किसी को प्रदर्शन स्थल पर जाने की अनुमति नहीं

सिंघु बॉर्डर पर सुरक्षा बढ़ी



किसान आंदोलन के प्रमुख केंद्र सिंघु बॉर्डर को पुलिस ने किले में तब्दील कर दिया है. कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच सभी तरफ बैरीकेड लगा दिए गए हैं. सभी प्रवेश मार्गों को बंद कर दिया गया है. स्थानीय लोगों और प्रदर्शनकारियों के बीच हुई झड़प के बाद सुरक्षाकर्मी ज्यादा चौकसी बरत रहे हैं. दिल्ली में गणतंत्र दिवस के मौके पर हुई हिंसा में 394 पुलिसकर्मियों के घायल होने एवं एक प्रदर्शनकारी की मौत होने के बाद इस प्रदर्शन स्थल पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है और पाबंदियां लगा दी गई हैं. वहां कंक्रीट के कई बैरीकेड एवं अन्य अवरोधक लगाए गए हैं तथा किसी को भी, यहां तक कि मीडियाकर्मियों को भी प्रदर्शनस्थल पर नहीं जाने दिया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज