• Home
  • »
  • News
  • »
  • haryana
  • »
  • CHANDIGARH CITY FARMERS WENT DELHI WITH TRACTOR TROLLEY FILLED WITH WHEAT AND RATION

Kisan Aandolan: ट्रॉलियों में राशन भरकर दिल्ली चले किसान, गोहाना से बड़ा जत्था हुआ रवाना

गोहाना से बड़ी संख्या में किसान दिल्ली के लिए रवाना हुए.

Kisan Aandolan News: गेहूं का सीजन समाप्त होते ही हरियाणा के किसान दिल्ली के लिए हो रहे रवाना. कृषि कानूनों के खिलाफ धरने में शामिल होने के लिए गांवों में गेहूं और राशन का अन्य सामान इकट्ठा कर सिंघू बॉर्डर जा रहे किसान.

  • Share this:
गोहाना. कोरोना महामारी के बीच केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ हरियाणा के किसान एक बार फिर से आंदोलन की धार तेज करने में जुट गए हैं. आज गोहाना से बड़ी संख्या में किसानों का जत्था दिल्ली बॉर्डर की तरफ रवाना हुआ. अपने साथ कई ट्रॉलियों में गेहूं व राशन के अन्य सामान लेकर रवाना होने वाले किसानों ने कहा कि जब तक सरकार तीन कृषि कानूनों को रद्द नहीं करती, उनका आंदोलन जारी रहेगा. किसानों ने कहा कि पुलिस उनपर कितने ही मामले क्यों न दर्ज करे, लेकिन वे आंदोलन से पीछे हटने वाले नहीं हैं. सरकार कोरोना के नाम पर किसानों का धरना समाप्त करवाना चाहती है, लेकिन उसकी साजिश सफल नहीं होगी.

कृषि कानूनों को निरस्त कराने के लिए दिल्ली बॉर्डर पर चल रहे किसानों के धरने की वीरानी टूटने जा रही है. गेहूं के सीजन से फारिग हो चुके किसान दोबारा बॉर्डर पर पहुंचने लगे हैं. किसान अपने साथ गेहूं से भरी ट्रैक्टर ट्राली लेकर जा रहे हैं. गोहाना से आज भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश उपाध्यक्ष सत्यवान नरवाल के नेतृत्व में बड़ी संख्या में किसान दिल्ली रवाना हुए. किसानों का कहना है कि जब तक सरकार तीनों कानून रद्द नहीं करती, आंदोलन जारी रहेगा. किसानों का कहना है कि पिछले कुछ दिनों से वे गेहूं की कटाई में व्यस्त थे. अब जबकि सीजन समाप्त हो गया है, वे फिर दिल्ली कूच कर रहे हैं.

आपको बता दें कि तीन कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर दिल्ली के बॉर्डर पर पिछले करीब 6 महीने से ज्यादा समय से किसान धरना दे रहे हैं. इसी क्रम में गोहाना के किसान आज सिंघु बॉर्डर के लिए रवाना हुए हैं. भारतीय किसान यूनियन से जुड़े आज़ाद लठवाल, सुरेंद्र लठवाल ने कहा कि गोहाना के आसपास के हर गांव से किसान अपने स्तर पर सभी जातियों से गेहूं इकट्ठा कर रहे हैं. इसे ट्रैक्टर-ट्रॉलियों से भर कर दिल्ली जा रहे हैं. उनका कहना है कि किसानों को अगले गेहूं के सीजन तक भी आंदोलन चलाना पड़ा तो वे पीछे नहीं हटेंगे.

गौरतलब है कि पिछले सप्ताह भी गोहाना से बड़ी संख्या में किसान दिल्ली बॉर्डर के लिए रवाना हुए थे. उस दौरान गोहाना सिटी थाना पुलिस ने सत्यवान सहित करीब 15 किसानों पर धारा 144 का नियम तोड़ने को लेकर मामले दर्ज किए थे. अब देखना यह है कि इस बार भी पुलिस क्या किसानों पर कोई कार्रवाई करती है.
Published by:Ramendra Nath Jha
First published: