अपना शहर चुनें

States

Kisan Aandolan: पूर्व CM हुड्डा का ऐलान- बीजेपी-जेजेपी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएंगे

साथ ही कहा कि बीजेपी-जेजेपी सरकार किसानों के साथ-साथ आम लोगों का विश्वास भी खो चुकी है. (फाइल फोटो)
साथ ही कहा कि बीजेपी-जेजेपी सरकार किसानों के साथ-साथ आम लोगों का विश्वास भी खो चुकी है. (फाइल फोटो)

Kisan Aandolan: कृषि कानूनों के खिलाफ हरियाणा की सियासत में उबाल. कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा ने राज्यपाल से विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने की मांग की. कहा- खट्टर सरकार खो चुकी है जनता का विश्वास.

  • Share this:
चंडीगढ़. केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ कई दिनों से धरना-प्रदर्शन कर रहे किसानों को लेकर देशभर की सियासत गर्मा गई है. हरियाणा में इसको लेकर विभिन्न दलों के नेता अब सरकार के खिलाफ बयान दे रहे हैं. हरियाणा की बीजेपी-जेजेपी सरकार (BJP-JJP Government) को समर्थन देने वाले निर्दलीय विधायक ने बीते दिनों इसी क्रम में पशुधन विकास बोर्ड के चेयरमैन का पद भी छोड़ दिया था. वहीं अब कांग्रेस भी मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर की अगुवाई वाली सरकार पर हमलावर हो गई है. कांग्रेस नेता और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा (Bhupinder Singh Hooda) ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान किसान आंदोलन के मुद्दे पर खट्टर सरकार पर जमकर हमला बोला. हुड्डा ने राज्यपाल से इस मुद्दे को लेकर विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने की मांग की. साथ ही कहा कि बीजेपी-जेजेपी सरकार किसानों के साथ-साथ आम लोगों का विश्वास भी खो चुकी है. इसलिए कांग्रेस विधानसभा में सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव (No Confidence Motion) लेकर आएगी.

हुड्डा ने दावा किया कि मनोहर लाल खट्टर सरकार ने लोगों और सदन दोनों का विश्वास खो दिया है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल जल्द ही राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य से मिलकर विधानसभा का सत्र आयोजित करने की मांग करेगा. उन्होंने कहा कि दो निर्दलीय विधायकों ने पहले ही भाजपा-जननायक जनता पार्टी गठबंधन से समर्थन वापस ले लिया है और कुछ जजपा विधायकों ने किसानों के आंदोलन का समर्थन करते हुए सरकार के खिलाफ बयान दिए हैं. ऐसे में मनोहर लाल खट्टर सरकार ने लोगों और सदन दोनों का विश्वास खो दिया है.

सरकार का समर्थन भी कर रहे हैं
भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि कांग्रेस विधायक दल के विधायकों ने राज्यपाल से मिलने और किसानों की समस्याओं पर चर्चा के लिए विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने का निवेदन किया है. उन्होंने कहा कि हम अविश्वास प्रस्ताव लाएंगे क्योंकि मौजूदा सरकार ने न केवल लोगों का बल्कि सदन का भी विश्वास खो दिया है. इस दौरान हुड्डा ने दावा किया कि कुछ विधायक 'दोहरी भूमिका' निभा रहे हैं और वे सरकार के खिलाफ बयान दे रहे हैं. लेकिन सरकार का समर्थन भी कर रहे हैं.
दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन में हरियाणा के शामिल नहीं हैं


बता दें कि अभी 90-सदस्यीय राज्य विधानसभा में खट्टर सरकार को बहुमत प्राप्त है. भाजपा के 40 विधायक हैं जबकि उसकी सहयोगी जजपा के 10 सदस्य हैं. कांग्रेस के 31 विधायक हैं और इनेलोद तथा हरियाणा लोकहित पार्टी के एक-एक सदस्य हैं. सात सदस्य निर्दलीय हैं, जिनमें से बिजली मंत्री रंजीत सिंह चौटाला सहित पांच विधायक सरकार का समर्थन कर रहे हैं. हुड्डा ने कहा कि खट्टर ने यह कहकर किसानों का ‘अपमान’ किया है कि दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन में हरियाणा के शामिल नहीं हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज