चंडीगढ़ के डॉक्टरों ने किया कमाल, कटे पैरों को 10 घंटे की सर्जरी के बाद फिर से जोड़ा

जीएमसीएच-32 के डॉक्टर्स ने एक सफल सर्जरी के जरिए शख्स के अलग हुए पैरों को फिर से जोड़ दिया है. करीब तीन-चार महीने बाद शख्स अपने उन्हीं पैरों के जरिए फिर से चलने लगेगा.

News18 Haryana
Updated: July 19, 2019, 10:49 AM IST
चंडीगढ़ के डॉक्टरों ने किया कमाल, कटे पैरों को 10 घंटे की सर्जरी के बाद फिर से जोड़ा
डॉक्टर्स ने शख्स के अलग हुए पैरों को फिर से जोड़ दिया है. (सांकेतिक तस्वीर)
News18 Haryana
Updated: July 19, 2019, 10:49 AM IST
चंडीगढ़ में स्थित जीएमसीएच-32 के डॉक्टर्स ने एक सफल सर्जरी के जरिए शख्स के अलग हुए पैरों को फिर से जोड़ दिया है. करीब तीन-चार महीने बाद शख्स अपने उन्हीं पैरों के जरिए फिर से चलने लगेगा. दरअसल, बीते 8 जुलाई को एक मकैनिक बोरवेल पर काम कर रहा था. इस दौरान अचानक उसके दोनों पैर मशीन में आ गए और एक पैर कटकर धड़ से अलग हो गया, जबकि दूसरा पैरे भी 90 फीसदी तक कट गया. हालांकि, दूसरा पैर मांस के जरिए शरीर से जुड़ा हुआ था.

इस दौरान मकैनिक के साथ काम कर रहा उसका दूसरे साथी उसे तुरंत लेकर जीएमसीएच-32 ले गया. उसने मकैनिक के कटे हुए पैर भी उठा लिया. हॉस्पिटल में करीब आधे घंटे बाद उसकी सर्जरी प्रोसेस शुरू हुआ और सर्जरी सफल रही. मकैनिक के दोनों पैर जोड़ दिए गए हैं.

जानकारी के मुताबिक वेसक्यूलर सर्जन डॉ. मितेश बेदी, सिद्धार्थ गर्ग, ऑर्थोपिडीशियन डॉ. रोहित जिंदल के अगुवाई में जनरल सर्जरी डिपार्टमेंट के डॉक्टर्स की एक टीम बनाई गई. इसके बाद करीब 10 घंटे सर्जरी चली. जिसमें मैकेनिक के दोनों पैर की हड्डियों और नसों को जोड़कर उसकी प्लास्टिक सर्जरी कर दी गई.

डॉक्टर्स ने शख्स के अलग हुए पैरों को फिर से जोड़ दिया है. (सांकेतिक तस्वीर)


कटे अंग को लेकर बरतने वाली सावधानियां-

डॉक्टर का कहना है कि हादसे या लड़ाई में अगर कोई अंग कट जाए तो आधे से एक घंटे तक घायल को लेकर हॉस्पिटल पहुंचे. कटे हुए अंग को बर्फ में न ढकें, इससे सेल्स जुड़ने की कंडीशन में नहीं रहते हैं. साथ ही कटे हुए अंग को प्लास्टिक बैग में या ठंडे पानी में भी नहीं रखें. पानी कटे हुए अंग बिल्कुल भी नहीं पहुंचना चाहिए.

ये भी पढ़ें- यमुनानगर में पुलिस चौकी के बाहर हुआ हनुमान चालीसा का पाठ
Loading...

ये भी पढ़ें- जोमेटो कर्मचारियों ने ढाबे में की तोड़फोड़, वीडियो वायरल
First published: July 19, 2019, 10:30 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...