अस्थायी कर्मचारियों को खट्टर सरकार का तोहफा, बढ़ेगा वेतन और मिलेगा भत्ता

सीएम मनोहर लाल के साथ कर्मचारी संगठनों की बैठक में लिए फैसलों को सिरे चढ़ाते हुए मुख्य सचिव कार्यालय ने सभी महकमों, बोर्ड-निगमों, स्थानीय निकाय, विश्वविद्यालयों और सरकारी कंपनियों से कच्चे कर्मचारियों का रिकॉर्ड मांगा है.

News18 Haryana
Updated: July 23, 2019, 7:47 AM IST
अस्थायी कर्मचारियों को खट्टर सरकार का तोहफा, बढ़ेगा वेतन और मिलेगा भत्ता
सरकार ने सभी विभागों से कच्चे कर्मचारियों का रिकॉर्ड मांगा है. (File Photo)
News18 Haryana
Updated: July 23, 2019, 7:47 AM IST
हरियाणा के सरकारी कार्यालयों में कार्यरत कच्‍चे कर्मचारियों (अस्‍थायी कर्मचारियों) के लिए सोमवार का दिन खुशखबरी लेकर आया. राज्‍य की खट्टर सरकार ने अस्‍थायी कर्मचारियों के वेतन और भत्‍तों के बारे में बड़ा फैसला किया है. राज्‍य में स्वीकृत पदों पर काम कर रहे कच्चे कर्मचारियों और अफसरों को अब पक्के कर्मियों (स्‍थायी कर्मियों) जितना मूल वेतन मिलेगा. उनको हर छह महीने बाद महंगाई भत्ता (डीए) भी दिया जाएगा.

माना जा रहा है कि आउट सोर्सिंग पॉलिसी-2 के तहत लगे कर्मचारियों को भी इसका बड़ा फायदा होगा. सरकार ने इस संबंध में सभी महकमों, बोर्ड निगमों, स्थानीय निकाय, विश्वविद्यालयों और सरकारी कंपनियों को निर्देश भी जारी कर दिया है. सीएम मनोहर लाल के साथ कर्मचारी संगठनों की बैठक में लिए फैसलों को सिरे चढ़ाते हुए मुख्य सचिव कार्यालय ने सभी सभी महकमों, बोर्ड-निगमों, स्थानीय निकाय, विश्वविद्यालयों और सरकारी कंपनियों से कच्चे कर्मचारियों का रिकॉर्ड मांगा है.

बता दें, नवंबर 2017 में ही सरकार ने यह आदेश जारी कर दिए थे, लेकिन इन आदेशों को सभी विभाग लागू नहीं कर रहे थे. कई बोर्ड एवं निगम के कर्मचारी भी सरकार के इन आदेशों से वंचित थे. कर्मचारी संगठन बार-बार सभी विभागों में समान काम के लिए समान वेतन नहीं दिए जाने का मुद्दा सरकार के सामने उठा रहे थे. राज्य सरकार ने अब सभी विभागों को पत्र भेजकर पूछ लिया कि उनके यहां किस श्रेणी के कितने कर्मचारी हैं और उन्हें समान काम के लिए समान वेतन मिल रहा है अथवा नहीं.

ये भी पढ़ें--

पत्नी छोड़कर गई तो तीनों बच्चों को खिलाया जहर, फिर खुद भी कर ली आत्महत्या

मुस्लिम युवक ने Facebook पर खुद को बताया जैश-ए-मोहम्मद का सदस्य!
First published: July 22, 2019, 10:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...