हरियाणा में बाबा रामदेव की कोरोनिल किट बांटेगी सरकार, अनिल विज बोले- 1 लाख मरीजों को मुफ्त देंगे

अनिल विज ने ट्वीट कर बताया कि कोरोनिल किट मुफ्त बांटेगी सरकार. (फाइल फोटो)

अनिल विज ने ट्वीट कर बताया कि कोरोनिल किट मुफ्त बांटेगी सरकार. (फाइल फोटो)

Anil Vij Coronil News: हरियाणा सरकार ने प्रदेश में कोरोना मरीजों के बीच बाबा रामदेव की पतंजलि योगपीठ की बनाई 1 लाख कोरोनिल किट बंटवाने का किया ऐलान. स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने ट्वीट कर दी जानकारी.

  • Share this:

चंडीगढ़. हरियाणा सरकार (Haryana Government) कोरोना मरीजों (Corona patients) के बीच 1 लाख कोरोनिल किट (Coronil Kit) बांटेगी. प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज (Anil Vij) ने एक ट्वीट के जरिये सरकार के इस फैसले की जानकारी दी है. मंत्री ने अपने ट्वीट में कहा है कि पतंजलि की कोरोनिल किट मुफ्त बांटी जाएगी, जिसका आधा खर्च कंपनी और आधा राज्य सरकार वहन करेगी. डॉक्टरों के खिलाफ बाबा रामदेव के विवादित बयान, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्द्धन की चिट्ठी और फिर योगगुरु के IMA व दवा कंपनियों से सवाल पूछने की खबरों के बीच इस खबर से सियासत गर्माने के संकेत हैं.

अनिल विज का ट्वीट

हरियाणा के गृह व स्वास्थ्य मंत्री ने अपने ट्वीट में कहा है, 'हरियाणा में कोविड मरीजों के बीच एक लाख पतंजलि की कोरोनिल किट मुफ्त बांटी जाएंगी. कोरोनिल का आधा खर्च पतंजलि ने और आधा हरियाणा सरकार के कोविड राहत कोष ने वहन किया है.' आपको बता दें कि बाबा रामदेव की पतंजलि योगपीठ ने कोरोनिल किट कोरोना महामारी से बचाव की दवा के तौर पर लॉन्च की थी. लेकिन इस पर विवाद के बाद पतंजलि की तरफ से कहा गया था कि यह इम्युनिटी बूस्टर है, यानी यह शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाती है.

अनिल विज के ट्वीट का स्क्रीनशॉट.
अनिल विज के ट्वीट का स्क्रीनशॉट.

माफी मांगने के बाद रामदेव के 25 सवाल

इस बीच, बीते दिनों बाबा रामदेव का एक वीडियो वायरल हुआ, जिसमें वह खुलेआम मॉडर्न मेडिसिन साइंस के डॉक्टरों और एलोपैथ की आलोचना करते पाए गए थे. वायरल वीडियो में रामदेव ने डॉक्टरों की मौत को लेकर भी विवादित टिप्पणी की थी. इसके बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्द्धन ने उन्हें चिट्ठी लिखकर इसके लिए माफी मांगने को कहा था. मंत्री की चिट्ठी मिलने के बाद स्वामी रामदेव ने माफी मांग ली, लेकिन सोमवार की देर शाम उन्होंने एक ट्वीट किया. इसमें योगगुरु रामदेव ने इंडियन मेडिकल एसोसिएशन और फार्मा कंपनियों से 25 सवाल पूछे. इन सवालों में रामदेव ने कई गंभीर बीमारियों का जिक्र करते हुए पूछा है कि क्या एलोपैथ इन रोगों का स्थाई समाधान कर सका है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज