एक दिन के लिए जेल से बाहर आया था गुरमीत राम रहीम, जेल अधीक्षक ने दी थी पैरोल

राम रहीम रोहतक की सुनारिया जेल में बंद है.
राम रहीम रोहतक की सुनारिया जेल में बंद है.

गुरमीत राम रहीम (Gurmeet Ram Rahim) की मां बीमार थीं, जिसके चलते उसे पैरोल (Parole) दी गई थी. हरियाणा के जेल मंत्री रंजीत सिंह ने इसकी पुष्टि की है.

  • Share this:
चंडीगढ़. सिरसा डेरे के प्रमुख गुरमीत राम रहीम (Gurmeet Ram Rahim) को हरियाणा सरकार ने 24 अक्टूबर को 1 दिन के लिए पैरोल (Parole) पर जेल से बाहर निकाला था. राम रहीम इस वक्त रोहतक की सुनारिया जेल (Sunaria Jail) में साध्वी यौन शोषण मामले में उम्र कैद की सजा काट रहा है. राम रहीम को पैरोल आखिर क्यों दी गई, इस पर पहली बार हरियाणा के जेल मंत्री रंजीत सिंह ने आधिकारिक जानकारी दी है.

राम रहीम की पैरोल पर हरियाणा के जेल मंत्री रंजीत सिंह ने कहा है कि राम रहीम को 1 दिन के लिए पैरोल सुनारिया जेल अधीक्षक ने अपने स्तर पर दी थी. जेल में सजायाफ्ता किसी भी कैदी को 1 दिन के लिए परिवार में किसी की बीमारी या शादी-ब्याह के लिए सूरज निकलने से लेकर सूरज के डूबने तक जेल अधीक्षक अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए पैरोल दे सकता है. डेरा मुखी राम रहीम की मां बीमार थीं, जिसके चलते उन्हें पैरोल दी गई थी.

6 हजार कैदियों की पैरोल बढ़ाई
रंजीत सिंह ने कहा कि फिलहाल भविष्य में राम रहीम ने और पैरोल की अपील नहीं की है. रंजीत सिंह ने कहा कि कोरोना को देखते हुए हरियाणा में करीब 6 हजार कैदियों की पैरोल भी 31 दिसंबर तक बढ़ा दी गई है. करीब 46 हजार कैदी हरियाणा की जेलों में बंद थे, जिन्हें पैरोल दी गई थी. इसके अलावा करीब 1400 कैदियों ने अदालत से पैरोल ली है.
हरियाणा की जेलों को बनाया जाएगा आधुनिक


रंजीत सिंह ने कहा कि कोरोना को देखते हुए जेल प्रशासन पूरी एहतियात बरत रहा है. पुराने और जेल में आने वाले नए कैदियों की बारीकी से जांच पड़ताल की जा रही है. रंजीत सिंह ने कहा हरियाणा की जेलों को आधुनिक बनाने के लिए तमाम प्रयास किए जा रहे हैं. इसके लिए कर्नाटक और आंध्र प्रदेश की जेलों का निरीक्षण किया गया. हरियाणा की जेलों में गौशाला खोलने पर भी विचार किया जा रहा है. जहां भी जगह उपलब्ध है, उन जिलों में गौशाला में खोली जाएंगी.

हरियाणा के पास बिजली की कमी नहीं
बिजली मंत्री के तौर पर रंजीत सिंह ने कहा कि कृषि क्षेत्र के लिए 2 घंटे अतिरिक्त बिजली दी जा रही है. फिलहाल करीब 8 जिलों में आठ के बजाय 10 घंटे बिजली दी जा रही है. लेकिन जहां-जहां से भी किसानों की अतिरिक्त बिजली की मांग आ रही है उसकी पूर्ति करवाई जा रही है. हरियाणा के पास बिजली की कोई कमी नहीं है हमारे पास सर प्लस पावर है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज