हरियाणा विधानसभा चुनाव: BJP के 10 में से 7 सांसद अपनों को दिलवाना चाहते हैं टिकट

News18 Haryana
Updated: August 28, 2019, 1:03 PM IST
हरियाणा विधानसभा चुनाव: BJP के 10 में से 7 सांसद अपनों को दिलवाना चाहते हैं टिकट
सीएम मनोहर लाल खट्टर (फाइल फोटो)

इसके अलावा शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ,पूर्व प्रदेश पार्टी अध्यक्ष आत्मा प्रकाश मनचंदा और प्रोफेसर गणेशीलाल भी इस जुगत में हैं कि उनके अपनों को टिकट मिल जाए

  • Share this:
विधानसभा चुनावों (Assembly Elections) में मिशन 75 प्लस (Mission 75 plus) का दावा कर रही बीजेपी (BJP) के सामने टिकट बांटना एक बड़ी चुनौती बनने जा रही है. पार्टी में टिकट के चाहवानों की फेरिस्त दिनों-दिन बढ़ती जा रही है. पार्टी के दस में से सात सांसद अपनों को टिकट दिलवाने की जुगत में हैं. पार्टी के लिए टिकट देना इस बार के चुनाव में टेढ़ी खीर साबित होने वाला है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री मनोहर लाल दोनों कांग्रेस, इनेलो और दूसरी पार्टियों के नेताओं को साधना चाहते हैं. नेताओं की बड़ी फौज अन्य दलों से भाजपा में शामिल भी हो चुकी है. पार्टी के लोकसभा सांसदों के अलावा राज्यसभा सांसद बीरेंद्र सिंह भी अपनी पत्नी उचाना से विधायक प्रेमलता के लिए फिर से टिकट मांग रहे हैं.

बेटे के लिए छोड़ दिया था कैबिनेट पद

बीरेंद्र सिंह ने अपने बेटे को सियासत में एंट्री दिलाने के लिए अपना कैबिनेट पद तक छोड़ दिया था और अपने बेटे को हिसार से लोकसभा का टिकट दिलाने में कामयाब भी रहे. ठीक ऐसे ही कैबिनेट मंत्री राव इंद्रजीत सिंह भी अपनी बेटी आरती राव और कैबिनेट मंत्री कृष्ण लाला गुर्जर अपने बेटे के लिए टिकट मांग रहे हैं.

ये सांसद भी अपनों को दिलाना चाहते हैं टिकट

इतना ही नहीं भिवानी महेंद्रगढ़ से सांसद धर्मबीर सिंह अपने भाई के लिए टिकट मांग रहे हैं. सोनीपत से सांसद रमेश कौशिक भी अपने भाई के लिए टिकट की उम्मीद लगाए बैठे हैं. अंबाला से सांसद रतन लाल कटारिया और कुरुक्षेत्र से सांसद नायब सिंह सैनी अपनी पत्नी के लिए टिकट मांग रहे हैं. भाजपा में अपनों के लिए विधानसभा की टिकट के चाहवानों की लिस्ट काफी लंबी है.

इस बार पार्टी के लिए टिकट देना आसान काम नहीं
Loading...

इसके अलावा शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा, पूर्व प्रदेश पार्टी अध्यक्ष आत्मा प्रकाश मनचंदा और प्रोफेसर गणेशीलाल भी इस जुगत में हैं कि उनके अपनों को टिकट मिल जाए. टिकट के चाहवान पार्टी आलाकमान के लिए बड़ी चुनौती बनने जा रहे हैं. इस बार पार्टी के लिए टिकट देना आसान नहीं है. पार्टी प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला कई बार कह चुके हैं कि जीताऊ उम्मीदवार को ही टिकट दिया जाएगा.

ये भी पढ़ें- रिश्वतखोरी: STF ने किया दादरी टीआई समेत 3 को गिरफ्तार

फार्मासिस्ट हड़ताल: मरीजों ने कर्मचारियों पर उतारा गुस्सा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 28, 2019, 12:12 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...