लाइव टीवी

हरियाणा में हार नहीं मानेंगे खट्टर, दिल्ली आकर आलाकमान के सामने रखेंगे पूरा प्लान

News18Hindi
Updated: October 24, 2019, 2:53 PM IST
हरियाणा में हार नहीं मानेंगे खट्टर, दिल्ली आकर आलाकमान के सामने रखेंगे पूरा प्लान
पिछली बार बीजेपी ने बहुमत मिलने पर जाट नेता के बजाय गैर-जाट नेता मनोहर लाल खट्टर को मुख्यमंत्री बनाया था.

Haryana Assembly Election Results 2019: दिल्ली में बीजेपी आलाकमान के सामने मनोहरलाल खट्टर (Manoharlal Khattar) अपना पूरा प्लान पेश करेंगे और वहां से हरी झंडी मिलने के बाद चंडीगढ़ लौटकर अपनी रणनीति पर काम शुरू करेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 24, 2019, 2:53 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा विधानसभा चुनाव (Haryana Assembly Election Results 2019) के अब तक आए नतीजों और रुझानों में बीजेपी (BJP) भले ही बहुमत के जादुई आकंड़े से दूर दिख रही है, लेकिन पार्टी ने यहां सरकार बनाने की उम्मीदें नहीं छोड़ी हैं. सीएम ऑफिस से जुड़े सूत्रों के मुताबिक (haryana cm office), पार्टी भी हरियाणा में हार नहीं मानेगी. बीजेपी के (BJP) सबसे बड़ी पार्टी बनने पर सरकार बनाने का दावा पेश करेगी.

सूत्रों ने साफ किया कि बीजेपी सरकार बनाने के लिए दुष्यंत चौटाला की जेजेपी (JJP) या अन्य किसी पार्टी से कोई समर्थन लेने मूड में नहीं है. पार्टी की कोशिश निर्दलीयों को साथ लाने के साथ ही अन्य पार्टियों से जीत कर आए विधायकों को अपने साथ जोड़ने पर होगी.

सूत्रों ने बताया, दिल्ली में बीजेपी आलाकमान के सामने मनोहर लाल खट्टर अपना पूरा प्लान पेश करेंगे. वहीं आलाकमान से हरी झंडी मिलने के बाद वह देर रात चंडीगढ़ वापस आ सकते हैं और उसके बाद वो अपनी रणनीति पर काम शुरू करेंगे.

सूत्रों के मुताबिक बीजेपी को लग रहा है कि हार के बावजूद वो हरियाणा में सबसे बड़ी पार्टी बन रही है और ऐसे में वो अभी सरकार बनाने के दावे से पीछे नहीं हटेगी.

बता दें कि हरियाणा की राजनीति में चौटाला परिवार एक बार फिर सुर्खियों में आ गई है. इंडियन नेशनल लोकदल (INLD) से अलग होने के 319 दिन बाद जननायक जनता पार्टी हरियाणा विधानसभा चुनाव के नतीजों रुझानों में किंगमेकर होकर उभरी है. नई पार्टी में दुष्यंत चौटाला को सीएम प्रोजेक्ट किया गया था.

बीजेपी ने इस बार कई खिलाड़ियों को टिकट दिया था, लेकिन वे सभी अपेक्षित परिणाम नहीं दे सके. पार्टी ने बबिता फोगाट और योगेश्वर दत्त जैसे खिलाड़ियों को टिकट दिया था, जिसमें से योगेश्वर दत्त अपना चुनाव हार चुके हैं और बबिता 1410 वोटों से पीछे चल रही है. ऐसे में ये कहना गलत नहीं होगा कि इस बार के चुनाव में बीजेपी के इन खिलाड़ी प्रत्याशियों का भी जादू नहीं चला.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 24, 2019, 1:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...