COVID 19: हरियाणा में कक्षा 1 से आठवीं तक के छात्र बिना एग्जाम अगली क्लास में होंगे प्रमोट
Chandigarh-City News in Hindi

COVID 19: हरियाणा में कक्षा 1 से आठवीं तक के छात्र बिना एग्जाम अगली क्लास में होंगे प्रमोट
इससे पहले उन्होंने मीडियाकर्मियों से कहा था कि हरियाणा सरकार राज्य के कैंसर रोगियों को अपनी सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना के दायरे में लाने पर विचार कर रही है. (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने लॉकडाउन (Lockdown) के चलते की बड़ी घोषणा, इससे पहले छात्रों और प्रवासी कामगारों से घर का किराया न लेने की भी स्‍थानीय लोगों से कर चुके हैं अपील.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
गुरुग्राम. कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण को रोकने के लिए देशभर में लॉकडाउन के बाद अब बड़ा संकट छात्रों के सामने खड़ा हो गया है. परीक्षाओं के समय में हुए इस लॉकडाउन के बाद अधिकतर बच्चों के एग्जाम नहीं हो सके. ऐसे में अब हरियाणा सरकार ने छात्रों को राहत देते हुए बड़ा ऐलान किया है. मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (CM manohar Lal Khattar) ने घोषणा की कि सूबे में कक्षा 1 से आठवीं तक के बच्चों को अब बिना किसी परीक्षा के ही अगली कक्षा में प्रमोट कर दिया जाएगा. इस दौरान किसी भी तरह की कोई परीक्षा नहीं होगी. इससे पहले उत्तर प्रदेश सरकार ने भी यही फैसला करते हुए कक्षा 1 से आठवीं तक के छात्रों को अगली क्लास में बिना किसी एग्जाम के प्रमोट कर दिया था.

इससे पहले ये भी की थी घोषणा
इससे पहले सीएम खट्टर ने राज्य के लोगों से अपील की है कि प्रवासी श्रमिकों से मकान मालिक एक महीने की अवधि के लिए किराए के भुगतान की मांग नहीं करेंगे. खट्टर ने हिदायत दी है कि यदि कोई मकान मालिक मजदूरों और छात्रों को मकान खाली करने को कहता है तो उस पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी. इस बारे में राज्य सरकार ने सभी जिला उपायुक्तों को निर्देश जारी कर दिए हैं. राज्य सरकार ने साफ कह दिया है कि आदेश का पालन नहीं करने पर मकान मालिकों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई करें.





सख्ती से होगा पालन


बता दें कि पिछले दिनों ही केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने इस बारे में एक आदेश सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों की सरकारों को जारी किए गए थे, जिसको हरियाणा सरकार ने लागू किया है. मुख्यमंत्री ने राज्य में भी इन दिशानिर्देशों को सख्ती से लागू करने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए हैं ताकि लॉकडाउन का पालन सही तरीके से हो. राज्य सरकार का कहना है कि इसी तरह नोवेल कोरोना वायरस संक्रमण की चेन को तोड़ा जा सकता है.

इसके साथ सीएम ने कहा है कि केन्द्र सरकार द्वारा जारी किए गए निर्देशों के अनुसार हरियाणा सरकार ने अपने संबंधित क्षेत्रों में अस्थायी आश्रयों और गरीब व जरूरतमंद लोगों के लिए भोजन आदि की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित की है. प्रवासी लोग, जो अपने गृह राज्यों व गृह शहरों तक पहुंचने के लिए राज्य में आ गए थे, उन्हें मानक स्वास्थ्य प्रोटोकॉल के अनुसार न्यूनतम 14 दिनों के लिए उचित स्क्रीनिंग के बाद प्रदेश सरकार क्वारंटीन सुविधाओं द्वारा निकटतम चिन्हित परिसर में रखा जा रहा है.

नहीं कटेगा वेतन
मुख्यमंत्री ने बताया कि लॉकडाउन अवधि के दौरान बंद रहे प्रतिष्ठानों के सभी कर्मचारियों, चाहे वह उद्योगों के हों या दुकानों और वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों में कार्यरत हैं, उनका वेतन नहीं कटेगा. राज्य सरकार द्वारा जिलों के संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि वे अपने -अपने जिलों में इन निर्देशों को सुनिश्चित करने का काम करें.

ये भी पढ़ेंः CM खट्टर ने कहा- छात्रों और मजदूरों को नहीं देना होगा एक महीने का किराया
First published: April 6, 2020, 7:14 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading