लाइव टीवी

हरियाणा में बहुमत से दूर BJP, बादल को सौंपा जेजेपी को साथ लाने का जिम्मा, अकाली दल ने दिया ये जवाब

News18Hindi
Updated: October 24, 2019, 12:29 PM IST
हरियाणा में बहुमत से दूर BJP, बादल को सौंपा जेजेपी को साथ लाने का जिम्मा, अकाली दल ने दिया ये जवाब
दुष्यंत चौटाला की पार्टी हरियाणा में तीसरे नंबर की पार्टी बनती दिख रही है.

हरियाणा की राजनीति में दुष्यंत चौटाला की जेजेपी किंगमेकर बनती दिख रही है. ऐसे में बीजेपी ने अभी से सरकार बनाने की दिशा में कदम बढ़ा दिए हैं. उसने दुष्यंत चौटाला से बातचीत करने के लिए शिरोमणि अकाली दल के मुखिया प्रकाश सिंह बादल से कहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 24, 2019, 12:29 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: हरियाणा में बीजेपी बहुमत से दूर दिख रही है. 90 सीटों वाली हरियाणा में बहुमत के लिए 46 सीटें चाहिए. लेकिन बीजेपी या कांग्रेस इसके आसपास नहीं पहुंच पा रही हैं. बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनती तो दिख रही है, लेकिन बहुमत से दूर है. हरियाणा की राजनीति में दुष्यंत चौटाला की जेजेपी किंगमेकर बनती दिख रही है. ऐसे में बीजेपी ने अभी से सरकार बनाने की दिशा में कदम बढ़ा दिए हैं. उसने दुष्यंत चौटाला से बातचीत करने के लिए शिरोमणि अकाली दल के मुखिया प्रकाश सिंह बादल से कहा है.

उधर सूत्रों के हवाले से खबर है कि खुद चौटाला ने कर्नाटक का हवाला देते हुए कांग्रेस से सीएम पद मांगा है. कर्नाटक में भी कांग्रेस ने अपनी से छोटी पार्टी जेडीएस को सीएम पद का ऑफर देकर बीजेपी को सत्ता से बाहर कर दिया था. इधर,  अकाली दल के हरियाणा प्रभारी बलविंदर भूंदड़ का  इस मामले में अहम बयान सामने आया है. उन्होंने कहा, अगर bjp ने दुष्यन्त चौटाला से बातचीत की जिम्मेदारी प्रकाश सिंह बादल को दी तो वह उसे जरूर निभाएंगे.


लोकसभा में शानदार प्रदर्शन लेकिन विधानसभा में फंसी बीजेपी

हरियाणा में बीजेपी ने लोकसभा चुनावों में शानदार प्रदर्शन किया था. तब उसने 10 में से 10 सीटें जीत ली थीं. लेकिन विधानसभा में उसका फॉर्मूला फेल होता दिख रहा है.

75 पार का नारा नहीं चला
बीजेपी ने हरियाणा में 75 पार का नारा दिया था, लेकिन हरियाणा में उसका ये नारा फेल हो गया है. हरियाणा में वह 40 सीटों के पास सिमटती दिख रही है. ऐसे में बहुमत के लिए 46 सीटें हासिल करना उसके लिए टेढ़ी खीर बन गया है.
Loading...

2018 में दुष्यंत ने बनाई थी जेजेपी
1. दुष्यंत चौटाला जींद जिले की उचाना कलां सीट से आगे चल रहे है.
2. दुष्यंत चौटाला का लगातार दूसरा मुकाबला बीजेपी उम्मीदवार प्रेमलता से है.
3. साल 2014 के चुनाव में दुष्यंत उचाना कलां से प्रेमलता के मुकाबले हार चुके हैं.
4. इस साल हुए लोकसभा चुनाव में दुष्यंत को हिसार से अपनी नई पार्टी जजपा के टिकट से हार का मुंह देखना पड़ा था.
5. उचाना कलां की सीट दुष्यंत की पार्टी और परिवार की प्रतिष्ठा की सीट बन चुकी है.
6. साल 2018 के दिसंबर में दुष्यंत चौटाला ने जजपा का गठन किया.
7. दुष्यंत ने परदादा चौ. देवी लाल को मिली उपाधि जननायक का इस्तेमाल करते हुए जननायक जनता पार्टी का गठन किया.
8. जेल में बंद दादा ओमप्रकाश चौटाला ने दुष्यंत-दिग्विजय सिंह को इनेलो से बाहर कर दिया था.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 24, 2019, 10:22 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...