11 सैनिटाइजर ब्रांड के सैंपल फेल होने पर खट्टर सरकार ने दर्ज करवाई FIR, लाइसेंस रद्द करने का नोटिस जारी
Chandigarh-City News in Hindi

11 सैनिटाइजर ब्रांड के सैंपल फेल होने पर खट्टर सरकार ने दर्ज करवाई FIR, लाइसेंस रद्द करने का नोटिस जारी
अनिल विज इस मुद्दे पर काफी निराश

अनिल विज (Anil Vij) ने बताया कि कोरोनाकाल शुरू होते ही बाजार में नकली सैनिटाइजर (Sanitizer) बिकने की शिकायत प्राप्त हुई थी, जिसके चलते खाद्य एवं औषध प्रशासन को हरियाणा के जिलों में छापेमारी करने के निर्देश दिए गए थे.

  • Share this:
(चंडीगढ़ से मनोज कुमार की रिपोर्ट)

चंडीगढ़. हरियाणा के स्वास्थ्य एवं गृहमंत्री अनिल विज (Anil Vij) ने कहा कि प्रदेश के विभिन्न जिलों से एकत्र किए गए सैनेटाइजर के सैम्पल फेल होने के कारण 11 सैनिटाइजर ब्रांड (Sanitizer Brand) के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई गई है. इसके साथ ही संबंधित ब्रांड का लाईसैंस रद्द या निलम्बित करने का नोटिस जारी किया है. विज ने कहा कि हरियाणा के खाद्य एवं औषध प्रशासन द्वारा 248 सैम्पल एकत्र किए गए थे. इनमें से 123 सैम्पल की रिपोर्ट प्राप्त हुई है तथा शेष की रिपोर्ट अभी आनी है. इनमें से 109 सैम्पल पास हुए है, जबकि 14 सैम्पल फेल पाए गए हैं.

इनमें 9 ब्रांड की गुणवत्ता ठीक नहीं पाई गई जबकि 5 में मैथेनॉल की अधिकता पाई गई है, जो एक विष का काम करता है. मैथेनॉल के पीने से व्यक्ति की मौत भी हो सकती है. उन्होंने कहा कि फेल ब्रांड सैनिटाइजर का पूरा स्टॉक मार्किट से वापिस लाने के निर्देश दिए गए हैं ताकि लोगों को किसी प्रकार का नुकसान न हो सके.



पुलिस में मामला दर्ज करवाया
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कैथल जिले के बेस्ट टाइम यूनिट व मदर हैल्थ ब्रांड के सैम्पल फेल पाए गए. इसी प्रकार करनाल जिले के ग्लोबल बोटलर के 9 नमूने फेल मिले, जिनमें एथानोल निर्धारित मात्रा से कम पाई गई. इनके अलावा हिसार जिले से दो ब्रांड भी गुणवत्तापरक नहीं पाए गए हैं. इनके खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज करवा दिया गया है और उचित कार्रवाई के लिए नोटिस जारी कर दिया है.

सभी जिलों में की छापेमारी

विज ने बताया कि कोरोनाकाल शुरू होते ही बाजार में नकली सैनिटाइजर बिकने की शिकायत प्राप्त हुई थी, जिसके चलते खाद्य एवं औषध प्रशासन को हरियाणा के जिलों में छापेमारी करने के निर्देश दिए गए थे. इससे प्रशासन द्वारा 6 से 8 मार्च तक सभी जिलों में छापेमारी की और 158 सैम्पल एकत्र किए गए. इसी प्रकार 22 मई को भी राज्य के विभिन्न भागों से 90 सैम्पल एकत्र किए गए. इनकी रिपोर्ट प्राप्त होने पर उचित कार्रवाई होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज