हरियाणा: रक्षाबंधन पर सीएम खट्टर का बड़ा तोहफा, 11 नए कन्या महाविद्यालय का किया शिलान्यास
Chandigarh-City News in Hindi

हरियाणा: रक्षाबंधन पर सीएम खट्टर का बड़ा तोहफा, 11 नए कन्या महाविद्यालय का किया शिलान्यास
सीएम मनोहर लाल खट्टर ने की घोषणा

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल (Manohar Lal) ने सोमवार को प्रदेश में 11 नए महाविद्यालय खोलने की घोषणा और शिलान्यास किया. मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा दान एक महादान है.

  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा के मुख्यमंत्री  मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) ने रक्षाबंधन के पावन अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान को आगे बढ़ाते हुए 11 नए  कन्या महाविद्यालय का शिलान्यास किया. इसके साथ ही, हरियाणा देश का पहला ऐसा राज्य बन गया है, जहां 15 किलोमीटर की परिधि में एक महाविद्यालय होगा. पंचकूला के सेक्टर-1 स्थित राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में आयोजित एक समारोह में मुख्यमंत्री ने इन कॉलेजों की घोषणा की. इसके साथ ही, मुख्यमंत्री ने वृक्षारोपण किया तथा पर्यावरण की रक्षा के लिए लोगों से वृक्षबंधन का भी आह्वान किया.

हरियाणा के मुख्यमंत्री  मनोहर लाल ने सोमवार को प्रदेश में 11 नए महाविद्यालय खोलने की घोषणा की. मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा दान एक महादान है. इसी के मद्देनजर प्रदेश में गत 5 वर्षों में 97 नए कॉलेज खोले गए जबकि पिछले 48 वर्षों में केवल 75 कॉलेज ही खोले गए थे. मुख्यमंत्री ने कहा कि भगवान विश्वकर्मा के नाम से हरियाणा में देश का पहला कौशल विकास विश्वविद्यालय पलवल जिले के दुधोला में खोला गया है.

वर्तमान में हजारों युवा इस विश्वविद्यालय में कौशल शिक्षा हासिल कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति प्रधानमंत्री का ‘आत्मनिर्भर भारत’ बनाने की दिशा में कारगर सिद्ध होगी. इससे शिक्षा के क्षेत्र में आमूल-चूल परिवर्तन होगा और यह रोजगारपरक होगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि यह कार्यक्रम केवल 10 महाविद्यालयों की घोषणा का था, परन्तु आज ही महिला एवं बाल विकास मंत्री कमलेश ढांडा के अनुरोध पर कलायत विधानसभा क्षेत्र के गांव राजौंद में भी कॉलेज खोलने का निर्णय लिया गया है. इसके साथ ही, अब प्रदेश में एक साथ 11 महाविद्यालय खोले जाएंगे.



हमारी बहन-बेटियों के लिए रक्षाबंधन का यह विशेष तोहफा है. उन्होंने कहा कि अब 15 किलोमीटर के दायरे में कोई न कोई महाविद्यालय खोला जा चुका है. सरकार का लक्ष्य 10 किलोमीटर की परिधि में एक महाविद्यालय खोलने का है. उन्होंने प्रदेश के लोगों से आह्वान किया कि अगर किसी क्षेत्र में इससे अधिक दूरी पर महाविद्यालय है तो वे इसे सरकार के संज्ञान में लाएं, तुरन्त कार्रवाई की जाएगी.
मुख्यमंत्री  ने कहा कि ‘सबका साथ-सबका विकास’ की राह पर चलते हुए आज पंचकूला से नूंह तथा जगाधरी से डबवाली तक हर विधानसभा क्षेत्र को कोई न कोई महाविद्यालय दिया गया है. उन्होंने कहा कि इस समय प्रदेश के सभी हलकों में 161 सरकारी महाविद्यालय है, जो किसी न किसी विधानसभा क्षेत्र में पड़ते हैं. परन्तु यह हैरानी की बात है कि कांग्रेस के 10 वर्षों के शासनकाल में बरोदा विधानसभा हलके में एक भी महाविद्यालय नहीं खोला गया. इसलिए बरोदा हलके में दो महाविद्यालय दिए गए है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज