Lockdown 4.0: हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला, सरकारी स्कूलों को प्रशासनिक कार्य करने की अनुमति

इससे पहले उन्होंने मीडियाकर्मियों से कहा था कि हरियाणा सरकार राज्य के कैंसर रोगियों को अपनी सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना के दायरे में लाने पर विचार कर रही है.  (फाइल फोटो)
इससे पहले उन्होंने मीडियाकर्मियों से कहा था कि हरियाणा सरकार राज्य के कैंसर रोगियों को अपनी सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना के दायरे में लाने पर विचार कर रही है. (फाइल फोटो)

हरियाणा सरकार (Haryana Government) ने सरकारी स्कूलों को तत्काल और अपरिहार्य प्रशासनिक कार्य करने की अनुमति देने का निर्णय लिया है.

  • Share this:
चंडीगढ़. देश में लागू लॉकडाउन 4.0 (Lockdown 4.0) का आज पहला दिन है. वहीं, हरियाणा सरकार (Haryana Government) ने स्कूलों के लेकर बड़ा फैसला किया है. राज्य सरकार ने कोविड-19 के नियंत्रण के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी मानदंडों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करते हुए सरकारी स्कूलों को तत्काल और अपरिहार्य प्रशासनिक कार्य करने की अनुमति देने का निर्णय लिया है.



बता दें कि लॉकडाउन 4.0 में केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों को ज्यादा अधिकार दिए हैं. इस बार गृह मंत्रालय ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को अधिकार दिया गया है कि वह स्थानीय हालात के अनुसार विभिन्न जोन में अन्य गतिविधियों पर भी प्रतिबंध लगा सकते हैं. साथ ही राज्य सरकारों को सख्त निर्देश दिया गया है कि वह आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के तहत जारी लॉकडाउन के दिशानिर्देशों को किसी भी तरीके से कमजोर नहीं करेंगी.
लॉकडाउन 4.0 को लेकर गृह मंत्रालय की ओर से जारी की गईं गाइडलाइंस पर एक नजर-
1. शाम 7 बजे से सुबह 7 बजे तक जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों को छोड़कर किसी भी व्‍यक्ति की बाहर आवाजाही पर पूर्ण प्रतिबंध.


2. नए दिशानिर्देशों के तहत राज्य और केंद्रशासित प्रदेश अब स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा साझा किए गए मापदंडों को ध्यान में रखते हुए कोविड 19 के रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन का निर्धारण कर सकेंगे. ये जोन एक जिला या नगर निगम/नगर पालिका या छोटी प्रशासनिक इकाइयां जैसे कि उप-विभाग आदि हो सकते हैं, जैसा कि राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों द्वारा तय किया गया है.
3. रेड और ऑरेंज जोनके अंदर जिला प्रशासन/स्थानीय शहरी निकायों द्वारा स्थानीय स्तर पर तकनीकी जानकारी के साथ और स्वास्थ्य मंत्रालय के दिशा-निर्देशों को ध्यान में रखते हुए रोकथाम और बफर जोन की पहचान की जाएगी. कंटेनमेंट जोन के अंदर सख्‍त नियमों के साथ नियंत्रण जारी रहेगा. कंटेनमेंट जोन में मेडिकल इमरजेंसी सेवाओं और आवश्यक वस्तुओं और आवश्‍यक वस्‍तुओं व सेवाओं की आपूर्ति के अलावा किसी भी व्यक्ति की आवाजाही की अनुमति नहीं दी जाएगी. लॉकडाउन के दौरान घरेलू और अंतरराष्‍ट्रीय उड़ानें बंद रहेंगी.
4. कंटेनमेंट जोन के बाहर चारों ओर बफर जोन रहेगा. यहां कोविड 19 के नए मामले सामने आने की आशंका अधिक रहती है. यहां अतिरिक्‍त सावधानी बरतने को कहा गया है.

ये भी पढ़ें- जम्मू-कश्मीर के डोडा में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में हरियाणा का जवान शहीद

सैलरी मांगी तो डॉक्टर को नौकरी से निकाला, अब पत्‍नी संग ठेले पर बेच रहे चाय
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज